Homeहिन्दीडोनाल्ड ट्रंप अभी भी नही स्वीकार रहे हैं अपनी हार, कई बड़ी...

डोनाल्ड ट्रंप अभी भी नही स्वीकार रहे हैं अपनी हार, कई बड़ी हस्तियों ने की मुलाकात और समझाया, जो बाइडेन और कमला हैरिस के हाथों में अब अमेरिका की कमांड।

डोनाल्ड ट्रंप का नाम अब अमेरिका के उन 11 राष्ट्रपतियों की सूची में दर्ज हो गया है। जिन्होंने इस पद पर बने रहने के लिए लगातार दोबारा जीत हासिल करने की नाकाम कोशिश की थी। 3 नवंबर को हुए अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्याशी जो बाइडेन ने अपने प्रतिद्वंदी रिपब्लिकन उम्मीदवार और मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को हराया है। साल 1992 में जॉर्ज डब्ल्यू बुश के बाद डोनाल्ड ट्रंप ऐसे राष्ट्रपति हैं जो अपने कार्यकाल के बाद चुनाव में हार गए।

तो वहीं भारतवंशी सीनेटर कमला हैरिस अमेरिका में उपराष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित होने वाली पहली महिला है। 56 वर्षीय कमला हैरिस देश की पहली भारतवंशी, अश्वेत और अफ्रीकी अमेरिकी उपराष्ट्रपति होंगी। जीत के बाद बाइडेन और हेरिस आने वाले 20 जनवरी को पद की शपथ लेंगे।

बाइडेन के जीत पर बॉलीवुड से भी खूब रिएक्शन आ रहे हैं जो खूब वायरल हो रहे हैं।

अमेरिका में बाइडेन और कमला हैरिस के जीत पर भारतीय अभिनेत्री कंगना रनौत ने ट्वीट करके कहा “गजनी बाइडेन के बारे में श्योर नहीं हूं जिसका डाटा हर 5 मिनट में क्रैश हो जाता है। इतनी सारी दवाईयां जो उनमें इंजेक्ट की गई है तो वह 1 साल से ज्यादा नहीं टिक पाएंगे। यह साफ है कि कमला हैरिस ही इस शो को आगे चलाएंगे क्योंकि जब एक महिला उठती है तो वह दूसरी महिलाओं के लिए भी रास्ता बनाती है। इस ऐतिहासिक दिन को सेलिब्रेट करें।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक पेंसिलवेनिया राज्य में जीत दर्ज करने के बाद 77 वर्षीय पूर्व उपराष्ट्रपति बाइडेन अमेरिका के 46 वे राष्ट्रपति होंगे। इस राज्य में जीत के बाद बर्थडे को 270 से अधिक इलेक्टोरल कॉलेज वोट मिल गए जो जीत के लिए जरूरी था। डोनाल्ड ट्रंप ने दोबारा चुनाव जीतने के लिए काफी नाकाम कोशिशें की लेकिन उनका ख्वाब चकनाचूर हो गया हालांकि वह अभी राष्ट्रपति का पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं दिख रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि बाइडेन जल्दबाजी में गलत तरीके से खुद को विजेता बता रहे हैं और चुनावी दौर अभी अभी खत्म नहीं हुई है।

ट्रंप के इस बयान के बाद उनके दामाद और उनके वरिष्ठ सलाहकार कुशनर ने उनसे मुलाकात की

मीडिया से आई खबरों के अनुसार कुशनर ने चुनाव में डेमोक्रेट नेता बाइडेन की जीत को और रिपब्लिक पार्टी की हार को स्वीकार करने के लिए डोनाल्ड ट्रंप से बात की। सीएनएन ने दो अज्ञात सूत्रों के हवाले से यह कहा कि ट्रंप को उनकी हार स्वीकार करने के लिए उनसे बातचीत की है तो वहीं कुछ समाचार एजेंसियों ने भी यह खबर दी कि कुशनर व अन्य लोगों ने भी राष्ट्रपति से चुनाव के नतीजे को स्वीकार करने का अनुरोध किया है। दरअसल ट्रंप कहा था कि जब तक अमेरिकी जनता के वोटों की इमानदारी से गिनती नहीं हो जाती तब तक मैं हार नहीं मानूंगा यही लोकतंत्र का तकाजा है l

कमला हैरिस को अपनी जीत के अवसर पर आई अपनी मां की याद

अमेरिका में उपराष्ट्रपति पद को अपने नाम करने वाली कमला हैरिस खुद की जीत पर अपनी मां को याद करने लगी। जीत के बाद उन्होंने डेलावेयर के विल्मिंगटन में पहली बार अमेरिकी लोगों को संबोधित करते हुए कहा — “कि जनता के पास बेहतर भविष्य को निर्माण करने का ताकत है। आपने स्पष्ट संदेश दिया कि आपने उम्मीद, एकता, शालीनता, विज्ञान और सत्य को चुना आपने अमेरिका के लिए नया दिन सुनिश्चित किया”।

भारतीय मूल की डेमोक्रेटिक नेता कमला हैरिस ने अपनी जीत पर अपनी मां को याद किया उनकी मां का नाम है श्यामला गोपालन है। उनके बारे में कमला हैरिस ने कहा कि जब वह पहली बार अमेरिका आई थी तो उन्होंने इस पल के बारे में कभी नहीं सोचा होगा। उन्होंने कहा कि मैं उन्हें अभी याद कर रही हूं,

आपको बता दे कि कमला हैरिस ने इस जीत के साथ अमेरिका के इतिहास में पहली अफ्रीकी अमेरिकी महिला उपराष्ट्रपति होने का भी रिकॉर्ड बनाई है।

कमला हैरिस का जन्म व शिक्षा

कमला हैरिस ने साल 2019 को 11 जनवरी के दिन राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की थी। यही नहीं इसके बाद हरीस ने 3 दिसंबर को अपना नाम वापस भी ले लिया। कमला हैरिस का जन्म साल 1964 में ऑकलैंड में हुआ था। कमला हैरिस की मां का नाम श्यामला गोपालन हैरिस है उनके पिता जमैका से हैं और उनका नाम डोनाल्ड हरीश है। वह स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में इकोनॉमिक्स के प्रोफ़ेसर भी रहे हैं।

कमला हैरिस साल 1998 में ब्राउन यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट हुई। और फिर उन्होंने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री हासिल की। इसके बाद कमला ने सैन फ्रांसिस्को डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ऑफिस ज्वाइन किया। यहां कमला हैरिस को कैरियर क्रिमिनल यूनिट का इंचार्ज बनाया गया था और फिर साल 2003 में कमला हैरिस को सिटी ऑफ सैन फ्रांसिस्को के काउंटी की डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के लिए चुना गया था। फिर कमला हैरिस कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल बनकर इतिहास में नाम अपना नाम दर्ज कराया।

कमला हैरिस के जीत से तमिलनाडु में जश्न का माहौल बना 

कमला हैरिस के अमेरिका के उप राष्ट्रपति पद पर काबिज होने पर तमिलनाडु के तिरुवरूर जिले में स्थित तुलासेंतिपुरम गांव और पैंगनाडु गांव में उत्सव का माहौल बना है। क्योंकि अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद पर जीतने वाली कमला हैरिस के नाना पी.वी. गोपालन पूर्व राजनयिक तथा तुलासेंतिपुरम गांव के निवासी थे और उनकी नानी राजम नजदीक के पेंगागनाडु गांव से है। इसीलिए कमला हैरिस के जीत से तमिलनाडु के गांव में भी जश्न का माहौल बना है।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!