जानिए वकील बनने का सही Process: अपने नाम के आगे Advocate कैसे जोड़े।

0
जानिए वकील बनने का सही Process: अपने नाम के आगे Advocate कैसे जोड़े।
जानिए वकील बनने का सही Process: अपने नाम के आगे Advocate कैसे जोड़े।

आज के दौर में हर कोई करियर के लिए भागता है और चाहता है कि वह लाइफ में कुछ अच्छा और बड़ा करके अपना नाम रोशन करें। बहुत से लोग ऐसे हैं जो लॉयर बनने का सपना रखते हैं लेकिन समझ नहीं पाते हैं कि लॉयर कैसे बने। आज हम आपको इसी बारे में बताएंगे। आज के इस पोस्ट हम आपको वकील बनने के बारे में सारी जानकारी देंगे।

ऐसे कितने ही लोग हर साल वकालत की पढ़ाई पूरी करते हैं। लेकिन उनमें से कुछ ही वकील बन पाते हैं और बेहतर एडवोकेट कहलाते हैं। इसीलिए इस बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

दोस्तों, LLB का फुल फॉर्म होता है “Lagum Baccalaureus” जो लेटिन भाषा का शब्द है। अपने भाषा में इसको बैचलर ऑफ लॉ (Bachelor of Laws) बोलते हैं। यह एक बैचलर डिग्री होता है, जो हम 12वीं पास करने के बाद कर सकते हैं। इसमें कानून के बारे में पढ़ाया जाता है। अगर आपको लगता है कि पुलिस ने जिस अपराधी को पकड़ा है वह अपराधी नहीं है तो आप उसके तरफ से लड़कर उसे बचा सकते हैं। उसे ही वकील कहते हैं, किसी भी देश के वकील को अपने देश के कानून के बारे में सब कुछ पता होना चाहिए। वेसे भी अगर किसी को कानूनी किसी चीज की जानकारी चाहिए होती है, तो हम वकील को ही बुलाते हैं। यानी कि जब आप LLB की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं तो आप एक वकील बन जाते हैं। यानी कि आपको कानून के बारे में सब कुछ पता होता है। उसके बाद आप अपनी मेहनत से कोर्ट में जज भी बन सकते हैं।

★ वकील बनने के लिए कोर्स

वकील का कोर्स दो तरह का होता है। एक 5 साल का होता है और दूसरा 3 साल का होता है। अगर आप 12वीं कक्षा पास करने के बाद सीधे Law की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको 5 साल का कोर्स पढ़ना पड़ेगा। और अगर आप 3 साल का कोर्स करते हैं तो आपको पहले ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। फिर आपको 3 साल का LLB का कोर्स पूरा करना होगा।

जानिए वकील बनने का सही Process: अपने नाम के आगे Advocate कैसे जोड़े।

★ वकील बनने के लिए योग्यता

* अगर आप वकालत की पढ़ाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको किसी भी स्ट्रीम(Arts /science) से 12वीं पास करना पड़ेगा।

* अगर आप 12वीं के बाद वकालत की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको 5 साल का कोर्स करना पड़ेगा। 12वीं में आप हो कम से कम 50% मार्क लाने होंगे।

* अगर आप 3 साल के वकालत का कोर्स करना चाहते हैं तो आपके पास किसी भी स्ट्रीम Arts /science से ग्रेजुएशन का डिग्री होना पड़ेगा। ग्रेजुएशन में आपको कम से कम 50% मार्क्स लाने होंगे।

★ लॉ की पढ़ाई करने के लिए 12वीं के बाद (CLAT) एंट्रेंस एग्जाम

12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको वकील बनने की पढ़ाई करनी पड़ती है। इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है। ऑल इंडिया लेवल पर भारत में CLAT एग्जाम बहुत पॉपुलर है। जिसका पूरा नाम होता है (कॉमन लॉ ऐडमिशन टेस्ट)। इस एग्जाम को देने के बाद आपको लॉ कॉलेज में एडमिशन लेना पड़ता है, जो पूरे 5 साल का कोर्स होता है। CLAT एग्जाम में एक कॉमन टेस्ट लिया जाता है,जिसमें आपसे इंग्लिश, रीजनिंग, मैथ, जनरल नॉलेज के बारे में पूछा जाता है।

★ पढ़ाई पूरी करने के बाद

जब आप लॉ की पढ़ाई खत्म कर लेंगे। उसके बाद आपको इंटर्नशिप करनी होगी। इंटर्नशिप के दौरान आपको कोर्ट-कचहरी के बारे में सब कुछ सिखाया जाता है। जैसे कि कोर्ट की hearing कैसे होती है, दो वकील कैसे बहस करते हैं, इन सब जानकारी के लिए आपको इंटर्नशिप करनी होती है।

जब आप इंटर्नशिप कर लेते हैं। उसके बाद आप किसी भी स्टेट बार काउंसिल (State bar council) में जाकर अपने आप को Enroll करना होता है। Enroll करने के बाद आपको ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन (All India bar Examination) से गुजरना होगा। यह एग्जाम बार काउंसिल ऑफ इंडिया (bar council of India) के द्वारा कंडक्ट कराया जाता है। जब इसे पास कर लेते हैं, तो आपको एक प्रैक्टिस का सर्टिफिकेट मिलता है और इसके बाद आपकी LLB कोर्स यानी कि वकील बनने की पढ़ाई पूरी हो जाती है। ऐसा करने के बाद आपको अपनी प्रैक्टिस को जारी रखना पड़ती है।

★ लॉयर बनने के लिए कुछ जरूरी गुण जो आप में होने चाहिए

* याददाश्त शक्ति! आपकी याददाश्त शक्ति थोड़ी तेज होनी पड़ेगी।

* आसपास हो रहे घटनाओं के बारे में थोड़ा-बहुत जानकारी रखना पड़ेगा।

* हर एक बात को ध्यान से सक्रिय होकर सुनने की कला।

* समय प्रबंधन।

* इंग्लिश में मजबूत पकड़।

* हमेशा सही फैसला लेने की क्षमता।

* तार्किक और विश्लेषणात्मक व्यक्तित्व।

* बहुत सोचने की क्षमता, लेखन की कला।

* दूसरों के साथ बातचीत करने का तरीका और अपना पक्ष रखने का तरीका।

* तत्काल सोच।

अगर आपके अंदर यह सब क्वॉलिटी नहीं है या थोड़ी बहुत है तो, आप समय के अनुसार इन सब पर ध्यान देकर इन सारे क्वालिटी को अपने अंदर डेवलॅप कर सकते हैं।

★ एलएलबी के पढ़ाई के दौरान आप को  इन विषयों की शिक्षा दी जाती है।

* Human Rights law

* Environnemental law

* Banking Law

* business law

* International Trade

* company law

* family law

* criminal law

* constitutional law

* intellectual property law

* information technology Law

* Law of taxation

* insurance law

* Administrative law

* Humanitarian and Refugee law

* labour and industrial law

* law Relating to women and children

★ भारत के कुछ Top law colleges

* नेशनल लॉ स्कूल आफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बैंगलोर 

* नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, दिल्ली 

* नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी, भोपाल 

* NALSAR यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ, हैदराबाद 

* WB नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जुडिशल साइंस, कोलकाता 

* फैकल्टी ऑफ लॉ यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली

* सिंबोसिस लॉ स्कूल, पुणे 

* नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, जोधपुर 

* गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, गांधीनगर

* राजीव गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ  

* अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ 

* जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल, सोनीपत 

* नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवांस्ड लीगल स्टडीज, कोच्चि

* बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी

आशा है आपको वकील बनने केे प्रोसेस के बारे में स्टेप बाय स्टेप पता चल गया होगा। साथ ही आपने यह भी डिसाइड कर लिया होगा कि आपको Law कैसे और किस कॉलेज में करनी है। अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई तो इसको एक लाइक जरुर करें।

Leave a Reply