Thursday, May 19, 2022
Homeहिन्दीMsme registration free में कैसे करें ?

Msme registration free में कैसे करें ?

MSME ! क्या आपको इसके बारे में पता है। आज हम MSME के बारे में जानकारी देने वाले हैं। आज ना सिर्फ हम यह बताएंगे कि MSME क्या है, साथ ही MSME के फायदे और इसमें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे किया जाता है, उन सारी बातों पर Step By Step चर्चा करेंगे। उम्मीद करते हैं आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ेंगे और कुछ नया सीखेंगे। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको कोई कंफ्यूजन नहीं रहेगा MSME को लेकर और आप लोग बिना किसी की मदद आसानी से MSME के Site पर अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पूरा कर पाएंगे। तो  चलिए शुरू करते हैं। सबसे पहले हम यह जानेंगे कि MSME क्या है और इसके फायदे क्या है।

MSME क्या हैं

MSME का मतलब और full form होता है माइक्रो, स्मॉल और मीडियम एंटरप्राइजेज (Micro Small and Medium Enterprises) । माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइज (MSME), सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास (MSMED) अधिनियम, 2006 के साथ भारत सरकार द्वारा शुरू की गई, माल और वस्तुओं के उत्पादन, निर्माण, प्रसंस्करण या संरक्षण में लगी हुई इकाइयाँ हैं।

यह रोजगार के अवसर पैदा करता है और पिछड़े और ग्रामीण क्षेत्रों के विकास में काम करता है। क्षेत्र को भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ माना जाता है, जिसने राष्ट्र के सामाजिक-आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। सरकार की वार्षिक रिपोर्ट 2018-19 के अनुसार, वर्तमान में भारत में 6,08,41,245 MSMEs हैं। 

2006 में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास (MSMED) अधिनियम के अनुसार, उद्यमों को दो मूल भागों में वर्गीकृत किया गया है।

विनिर्माण उद्यम

किसी भी उद्योग में माल के उत्पादन या उत्पादन में जो लगे हुए हैं।

सेवा उद्यम

सेवाएं प्रदान करने वाले या जो सेवाएं प्रदान करने में लगे हुए हैं।

MSME मंत्रालय की विशेषताएं

  • ● कारीगरों और श्रमिकों के कल्याण के लिए काम करता है।
  • ● बैंकों से धन सहायता प्रदान करता है।
  • ● विशेष प्रशिक्षण केंद्रों के माध्यम से उद्यमिता विकास और कौशल उन्नयन को बढ़ावा देता है।
  • ● प्रौद्योगिकी उन्नयन, ढांचागत विकास और आधुनिकीकरण का समर्थन करता है।
  • ● घरेलू और निर्यात बाजारों में बेहतर पहुंच के लिए सहायता प्रदान करता है।
  • ● आधुनिक परीक्षण सुविधाएं और गुणवत्ता प्रमाणन प्रदान करता है।
  • ● पैकेजिंग, उत्पाद विकास और डिजाइन हस्तक्षेप का समर्थन करता है।

MSME में Online Registration करने के लिए जरूरी documents कुछ इस प्रकार है

  • 1. आधार कार्ड या आधार संख्या
  • 2. Pan कार्ड
  • 3. व्यवसाय का पता
  • 4. बैंक खाता संख्या
  • 5. बुनियादी व्यापार गतिविधि
  • 6. एनआईसी ( NIC) 2 अंकों का कोड
  • 7. निवेश का विवरण 
  • 8. टर्नओवर(Turnover) विवरण
  • 9. बिक्री और खरीद के बिल 
  • 10. खरीदी गई मशीनरी के लाइसेंस और बिल की प्रतियां

MSME में Online Registration करने के लिए जरूरी documents कुछ इस प्रकार है

MSMEs के लिए सरकार द्वारा घोषित Sceams का जो लोग  लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें अपना व्यवसाय  उद्योग आधार ज्ञापन (UAM) पोर्टल ’पर पंजीकृत करना होगा। आपको बता दें कि पंजीकरण की प्रक्रिया हर उपयोगकर्ता के लिए काफी Easy और बिल्कुल मुफ्त है।

अपने व्यवसाय को ऑनलाइन पंजीकृत(Registration) करने के लिए नीचे दिए गए Steps को follow करें

1. UAM portal को सबसे पहले Open कर ले। 

2. अब अपना 12 अंकों का आधार नंबर और उद्यमी का नाम दर्ज करें।

3. इसके बाद, id Validate & Generate OTP ’पर क्लिक करें और सत्यापन के लिए OTP दर्ज करें। एक बार सत्यापन हो जाने के बाद, आपको ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरना होगा।

4. अब आपके सामने एक नया Form open हो जायेगा। आपको उस form को कुछ इस तरह से fill up करना है —

★व्यवसाय के मालिक का नाम।

★आवेदक की श्रेणी – जनरल (General), एससी (SC), एसटी (ST), ओबीसी(OBC) या अन्य (Other)।

★अपने Pan card का विवरण।

★व्यवसाय का पूरा पता- जिला, पिन-कोड, राज्य, ईमेल।★पता और मोबाइल नंबर।

★आपके व्यवसाय का पिछला पंजीकरण विवरण।

★कारोबार की शुरुआत की तारीख।

★बैंक खाता विवरण, IFSC कोड के साथ।

★संगठन का प्रकार – “सेवा” या “विनिर्माण”।

★कुल कामगारों की संख्या।

★कुल धनराशि (लाखों में) व्यापार / उद्यम में निवेश की गई।

★व्यवसाय का वार्षिक कारोबार (Annual Turnover)

★राष्ट्रीय औद्योगिक वर्गीकरण (NIC) कोड।

★जिला उद्योग केंद्र (DIC) का विवरण

5. इन जानकारियों को भरने के बाद, फिर से ओटीपी(OTP) जनरेट(Generate) करने के लिए सबमिट पर क्लिक करें। अबकी बार OTP Registration form में उल्लिखित ईमेल आईडी (Email id) पर भेजा जाएगा।

6. दूसरी बार के लिए मोबाइल पर प्राप्त आधार OTP को दर्ज करें और ’फाइनल सबमिट’ पर क्लिक कर दें।

7. पंजीकरण पूरा होने के बाद आपको ईमेल के माध्यम से एक पावती संख्या (Registration Number) प्राप्त हो जायेगी।

8. एक बार जब आपका विवरण सत्यापित हो जाता है, तो आपके व्यवसाय के लिए UAM नंबर generate कर दिया जाता है। अब से आप उस Number को MSMEs के लिए लाभ प्राप्त करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

आशा करते हैं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी और भविष्य में आपके लिए मददगार साबित होगी। अगर यह आर्टिकल आपको Helpful लगता है तो इसका लिंक अपने मित्रों के वहां भी सेंड कर दीजिए और हमारे आर्टिकल को एक लाइक कर दीजिए।

GR Newsdesk
GR Newsdesk
Globalreport.in is a dynamic and versatile team of writers, contributing to a common cause. Journalism at its best. We cover a number of topics.
RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: