Homeहिन्दीजानकारीकहां और किस तरह से कनखजुरे को देखने का क्या मतलब होता...

कहां और किस तरह से कनखजुरे को देखने का क्या मतलब होता है और इसे भगाने के उपाए 

बारिश के दिनो में बहुत सारे कीट पतंगो की पैदावार बढ़ने लगती है, घर में भी तरह-तरह के कीट पतंग नजर आने लगते हैं। जिनमें से कनखजूरा तो आप लोग जानते ही होंगे कनखजूरा एक प्रकार का कीट है जो सीलन वाली जगह पर पाई जाती हैै और बारिश के मौसम में भी नजर आता है। हालांकि इसे देखकर कुछ लोग डर जाते हैं तो कुछ लोगो को अच्छा महसूस नहीं होता, क्योंकि इसे देखते ही मन में मिचमिची वाली की फीलिंग आती है।

कनखजूरा एक कणकीट है जिसे ठंडक की जरूरत होती है जिस स्थान पर नमी होती है या पानी भरा होता है ऐसे जगहो पर कनखजूरा पनपने लगता है कनखजूरा एक जहरीला जीव है जिसके काटने पर गंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती है।

लेकिन इस कनखजूरे को देखने के कुछ शुभ और अशुभ संकेत भी होते हैं, दरअसल कनखजूरा के बारे में बताया जाता है कि इस कनखजूरे कोवास्तु से जोड़कर देखा जाता है। कनखजुरे को ज्योतिषशास्त्र की दृष्टि से भी से जोड़ा जाता है क्योंकि कनखजूरे को राहु का प्रतीक माना जाता है जिसके अच्छे और बुरे दोनो फल होते हैं।

फर्श पर जिंदा कनखजूरा देखना

अगर आप घर के फर्श पर जिंदा कनखजूरा देखते हैं तो यह इस बात का संकेत है कि आपके घर का वास्तु सही नहीं है ऐसे में कनखजुरे को मारने की जगह उसे घर के बाहर भगा देना चाहिए। अगर आपका राहु कमजोर होगा तो वह आपको घर के शौचालय मुख्य द्वार और दहलीज के साथ सीढ़ियो पर भी रेंगता हुआ नजर आता है। इसके अलावा अगर आप पूजा के घर में कनखजूरा रेंगते हुए देखते हैं तो यह सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है ये इस बात का संकेत है कि आपको अब कोई शुभ समाचार मिलने वाला है।

घर में मरा हुआ कनखजूरा देखना

अगर आप मरा हुआ कनखजूरा देखते हैं तो यह भी एक संकेत देता है। अगर आप घर के फर्श में मरा हुआ कनखजूरा देखते हैं तो यह इस बात का संकेत होता है कि आपके घर पर कोई बड़ी विपदा आने वाली थी जो कि अब टल चुकी है इक प्रकार से आप इसे शुभ संकेत मान सकते हैं। वहीं अगर आपसे भूलवश या अनजाने में कनखजूरा मर जाता है तो इसका सीधा प्रभाव आपके राहु ग्रह पर पड़ता है और आपके जीवन में कोई बड़ी परेशानी आने का संकेत होता है।

भारी बीमारी का संकेत है कनखजूरा सर पर देखना

कहां और किस तरह से कनखजुरे को देखने का क्या मतलब होता है और इसे भगाने के उपाए 

वास्तु शास्त्र के अनुसार कहा जाता है कि कनखजूरे को सेहत के खराब होने का प्रतीक भी माना जाता है। अगर कनखजूरा किसी जातक के सिर पर चढ़ जाए तो इसका यह मतलब होता है कि उसे कोई गंभीर बीमारी होने वाली है या फिर उसे पहले से कोई गंभीर बीमारी है। ऐसे में आपको पूजा-पाठ और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए और डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

किचन में कनखजूरा देखने का मतलब

अगर आप घर के किचन में कनखजूरा देखते हैं तो यह इस बात का संकेत देता है कि किचन का वास्तु ठीक नहीं है ऐसे में उस घर के सदस्यो की सेहत भला कैसे ठीक रह सकती है। इसीलिए आपको कुछ बात पर ध्यान देना चाहिए जैसे कि घर को साफ सफाई रखनी चाहिए, किचन को साफ करना चाहिए। खानपन के बर्तन आदि को भी साफ करके रखना चाहिए, साथ ही अपने राहु दोष को ठीक करने के लिए भी पूजा पाठ करवानी चाहीए।

हाथ या पैर पर कनखजूरा दिखने का मतलब

यदि कनखजूरा आपके हाथ या पैर पर दिख जाए तो यह भी एक अशुभ संकेत होता है। यह इस बात का संकेत है कि आपका कोई बनता हुआ काम बिगड़ने वाला है। लेकिन अगर आपको घर में जिंदा कनखजूरा नजर आ जाए और फिर गायब भी हो जाए तो यह इस बात का संकेत देता है कि आपका कोई बहुत ही महत्वपूर्ण काम बनने वाला है।

कनखजूरे को घर से बाहर जाते हुए देखना

अगर घर के मुख्य द्वार पर कनखजूरा दिख जाए और वह बाहर की ओर जाते हुए दिख जाए तो यह इस बात का संकेत होता है कि वह अपने साथ घर की सारी परेशानिया लेकर जा रहा है और आपकी कुंडली में आपका राहु बहुत मजबूत है। वहीं अगर कनखजूरा मुख्य द्वार से घर के अंदर प्रवेश करता हुआ दिखे तो इसका मतलब यह होता है कि वह अपने साथ परेशानिया लेकर आ रहा है।

लेकिन यह सब वास्तुशास्त्र की बाते हैं जिसे कुछ लोग नहीं मानते और वह चाहते हैं कि उनके घर में कभी भी कनखजूरा देखने को ना मिले। लेकिन ऐसा होता नहीं है बारिश के मौसम में कनखजूरा अक्सर देखने को मिलता है। ऐसे में कुछ घरेलू उपायो से कनखजूरे को घर में आने से रोका जा सकता है तो चलिए जानते हैं।

कनखजूरे को अक्सर गार्डन की मिट्टी और सड़ी हुई पत्तो पर पाया जाता है। घर का कोई ऐसा जगह जहां अंधेरा हो और नमी भी हो वहां कनखजूरा पाया जाता है। जैसे किचन का सिंक, बाथरूम के बेसिन और कमोड के अंदर के पाइप द्वारा कनखजूरा घर में प्रवेश कर सकता है। कणखजूरे से छुटकारा पाने के उपायो के बारे में जाने तो कनखजूरे को घर में आने से रोकने के लिए सबसे बेस्ट तरीका होता है घर के फर्श को गीला न करना और उसे साफ करके सुखाकर रखना। 

लेकिन ऐसा हर बार संभव नहीं होता इसीलिए अगर आपके घर में बार-बार कनखजूरा घुस आए आप कुछ तो आसान उपायो को करके आप इस कार्य को कर सकते हैं।

नमक और सिरके का पानी

दरअसल कनखजूरे को सबसे ज्यादा परेशानी नमक से होती है, जब कनखजूरा काट लेता है या फिर ये हमसे चिपक जाता है तो नमक का उपयोग भी किया जाता है। बेस्ट रिजल्ट के लिए आप नमक के साथ सिरके का प्रयोग भी कर सकते हैं। आप नमक को मिलाकर एक स्प्रे तैयार करें और इसे बनाने के लिए आपको एक लीटर पानी, एक कटोरी सफेद सिरका और तीन बड़ी चम्मच डिटॉल कि जरूरत होगी।

कहां और किस तरह से कनखजुरे को देखने का क्या मतलब होता है और इसे भगाने के उपाए 

सबसे पहले पानी में नमक को अच्छी तरह मिला लें उसके बाद उस मिश्रण में सिरका डिटॉल मिलाएं, अब उस पानी को आप स्प्रे की बोतल में भरकर रख दें। इस स्प्रे की मदद से आप कनखजूरे को घर में आने से रोक सकते हैं। साथ ही इस स्प्रे में भरे जाने वाले मिश्रण से आप नियमित रूप से घर के फर्श पर पोछा लगाएं। इन दोनो ही विधि से आप कान खजूरे से छुटकारा पा सकते हैं।

रिफाइंड ऑयल

अगर आपके घर के गार्डन में ज्यादा कनखजूरा है तो आप इसके लिए एक कटोरी में रिफाइंड ऑयल भरकर रखें। इस काम को आप नालियो के पास भी कर सकते हैं दरअसल कनखजूरे को रिफाइंड ऑयल की महक आकर्षित करती है। अगर घर में कनखजूरा कभी भी छुप कर बैठा हो लेकिन रिफाइंड ऑयल की मदद से आकर्षित होकर उस बर्तन के पास आता है और उसी में डूब जाता है।

पायसीकरण या कीटनाशक 

पायसीकरण या कीटनाशक आसानी से मिल जाता है कनखजूरा को घर से भगाने के लिए पायसीकरण या कीटनाशक का प्रयोग किया जा सकता है। इसके उपयोग से हर तरह के कीड़े मकोड़े मर जाते हैं महीने में एक बार आपको इस कीटनाशक का छिड़काव करना ही चाहिए। अपने घर के अलग-अलग एरिया जैसे गार्डन आदि में तो इसका प्रयोग अवश्य होना चाहिए। इस कीटनाशक दवाई को आप पानी में मिलाकर भी घर के फर्श पर अच्छे से पोछा लगाए, इससे घर में कनखजूरे के साथ और कोई भी कीड़ा प्रवेश नहीं होगा।

नमक का प्रयोग 

आप अपने घर के नालिया, बेसिन के छेद के किनारे रात में नमक का छिड़काव करके रख दें। ज्यादातर कनखजूरा रात के समय अंधेरे का इंतजार करते हैं और शाम होते ही नमी वाले जगह पर जाने की कोशिश करते हैं, इसीलिए नमक का प्रयोग करके इसे रोका जा सकता है।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!