Homeहिन्दीजानकारीकारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर किस प्रकार सभी नेताओ ने...

कारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर किस प्रकार सभी नेताओ ने दी श्रद्धांजलि 

हमारे देश भारत ने 26 जुलाई को कारगिल युद्ध में पाकिस्तान पर अपनी जीत के 23 साल पूरे होने का जश्न मनाया। कश्मीर में पाकिस्तानी घुसपैठियों द्वारा पर्वत उचाइयो को जप्त करने के बाद फिर से उसे हासिल करने के लिए जिन शहीद नायको को सर्वोच्च बलिदान देना पड़ा था उनके वीरता को सलाम किया। 26 जुलाई साल 1999 को ऑपरेशन विजय पूरी तरह सफल हुआ जिसके बाद हर साल 26 जुलाई को देश भर में कई प्रकार कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

एम वेंकैया नायडू

एम वेंकैया नायडू ने कहा कि महान वीर पुरुषों के बलिदान से आज की पीढ़ीया प्रेरित होती रहेगी। जब सदन की बैठक हुई तब सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि यह 26 जुलाई साल 1999 में हुए कारगिल विजय दिवस की  23 वी वर्षगांठ थी। जब भारतीय सैनिको ने कारगिल की चोटियो पर कब्जा कर लिया था जिसके परिणाम हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण जीत है। 

उन्होंने कहा प्रतिकूल परिस्थितियो में भी हमारे देश के सैनिको द्वारा प्रदर्शित अनुकरणीय साहस, निस्वार्थ समर्पण और अटूट दृढ़ संकल्प को हमारा देश हमेशा याद करते रहेगा। उन्होंने कहा कि उन महान वीरों की अद्वितीय वीरता पीढ़ी दर पीढ़ी खुद को राष्ट्र के प्रति अर्पित करने के लिए प्रेरित करती रहेगी। 

केंद्रीय रक्षा सचिव ने युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि दी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी शहीदो को श्रद्धांजलि दी। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने चंडीगढ़ युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि दी।

कारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर किस प्रकार सभी नेताओ ने दी श्रद्धांजलि 

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र त्वेदी ने कहा “कारगिल में जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने कहा कि आज पूरा देश भारतीय सेना के वीरता और जीत के लिए जश्न रहा है। कारगिल विजय दिवस के माध्यम से हम उनके बलिदानो को कृतज्ञ भावना से याद करते हैं। 

उन्होंने कहा मैं देशवासियो को विश्वास दिलाता हूं कि भारतीय सेना का हर एक जवान देश की सुरक्षा के लिए समर्पित है और किसी भी चुनौती का सामना करने और किसी भी प्रकार बलिदान देने के लिए हमेशा तैयार है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि कारगिल विजय दिवस भारतीय सशस्त्र बलो के अदम्य साहस और वीरता का प्रतीक है। आज का दिन हमें उन महान वीरो को याद करने के साथ देश के सैनिको को सम्मान और याद करने का दिन है।

बहादुरी के साथ कारगिल से दुश्मनो को खदेड़ कर जवानो ने जो तिरंगा फहराया था उसी जीत को आज हम स्मरण कर रहे हैं। कारगिल विजय दिवस भारतीय सशस्त्र बलो के अदम्य साहस और शौर्य का प्रतीक है। अपनी बहादुरी से दुश्मनो को खदेड़ कर फिर से तिरंगा लहराने वाले जवानो को मैं हृदय से नमन करता हूं। 

सेना के तीनो प्रमुखो ने दी श्रृद्धांजलि

भारतीय सेना ने कारगिल युद्ध स्मारक में 23 वा कारगिल विजय दिवस मनाया तीनो सेना के प्रमुखों ने दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण किया। हर साल इस तिथि पर देश भर में कार्यक्रम आयोजित होते हैं और इस कारगिल विजय दिवस पर राज्यसभा ने कारगिल युद्ध में अपने प्राणो की आहुति देने वाले भारतीय सैनिको को श्रद्धांजलि अर्पित की। 

कारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर किस प्रकार सभी नेताओ ने दी श्रद्धांजलि 

दिल्ली में 3 सेना प्रमुखो ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण किया, सेना के तीनो प्रमुख जिसमें थलसेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार साथ ही वायु सेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी ने दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा 

23 वे कारगिल विजय दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह दिन देश के गौरव का प्रतीक है। उन्होंने ट्वीट कर कहां की कारगिल विजय दिवस मां भारती के गौरव का प्रतीक है। इस शुभ अवसर पर देश के उन सभी वीर सपूतो को मैं सलाम करता हूं जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा में अपनी वीरता साबित की। कारगिल विजय दिवस का यह अवसर मां भारती की आन बान शान का प्रतीक है इस शुभ अवसर पर अपने पराक्रम से इस देश और हमारी मातृभूमि की रक्षा करने वाले सभी साहसी सपूतो को मेरा शत-शत नमन।

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू

कारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने शहीद वीर जवानो को श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने कहा कि कारगिल विजय दिवस पर साल 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद सैनिको को मैं नमन करती हूं। कारगिल विजय दिवस हमारे सशस्त्र बलो की असाधारण वीरता और दृढ़ संकल्प का प्रतीक है। मैं भारत माता की रक्षा के लिए अपने प्राणो की आहुति देने वाले सभी बहादुर सैनिको को नमन करती हूं सभी देशवासी हमेशा उन वीरो के और उनके परिवार के सदस्यो के ऋणी रहेंगे।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर सैनिको को श्रद्धांजलि दी। रक्षा मंत्री ने विजय दिवस के शुभ अवसर पर जम्मू-कश्मीर में हो रहे स्मरण उत्सव समारोह में भाग लेने पहुंचे। राजनाथ सिंह ने ड्यूटी के दौरान जान गवाने वाले सुरक्षाकर्मियो के परिजनो से बात की उन्होंने कहा देश की सेवा में अपने प्राणो की आहुति देने वालो को याद करता रहूंगा। हमारी सेना ने हमेशा ही देश के लिए यह सर्वोच्च बलिदान दिया है हमारे कई बहादुर सैनिको ने साल 1999 के युद्ध में अपनी जान दी में उन्हें नमन करता हूं।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कारगिल विजय दिवस पर भारत हमारे सशस्त्र बलो के बहादुरी, साहस और बलिदान को याद करता है। उन्होंने हमारी मातृभूमि की रक्षा के लिए बेहद कठोर परिस्थितियो में बहादुरी से लड़ाई लड़ी। देश के लिए उनकी वीरता और अदम्य भावना भारत के इतिहास में हमेशा के लिए नायक संघ के रूप में अंकित रहेगी।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!