Homeहिन्दीजानकारीआज देश के सभी नेताओ के अलावा अभीनताओ ने भी दिए पुलवामा...

आज देश के सभी नेताओ के अलावा अभीनताओ ने भी दिए पुलवामा शहीदो को श्रद्धांजलि 

देश में एक तरफ जहां वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट किया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर पुलवामा हमले की बरसी पर शहीद हुए जवानो को श्रद्धांजलि दी जा रही है। 14 फरवरी साल 2019 को हुए उस घटना में हमारे देश के 40 बहादुर वीर जवान शहीद हो गए थे और आज उस शोक भरे दिन के 3 साल होने के बाद भी देश के लोग जब उस घटना के बारे में सोचते हैं तो उनका दिल सिहर जाता है और आंखे भर आती है। 

ऐसे में हमारे देश के सभी देशवासी, बड़े-बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के सभी मुख्यमंत्री के अलावा फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने अभिनेता भी ट्विटर के माध्यम से उन सभी वीर जवानो को नमन कर रहे हैं, उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं जो 3 साल पहले 14 फरवरी को आतंकवादियो के साजिश का शिकार हो गए थे। आज भी जब 14 फरवरी की बात होती है तो लोगो के मन में वैलेंटाइन डे का ख्याल तो बाद में आता है पहले देश के उन बहादुर जवानो के प्रति श्रद्धांजलि आती है और उनके परिवार वालो के प्रति सहानुभूति। 

आज देश के सभी नेताओ के अलावा अभीनताओ ने भी दिए पुलवामा शहीदो को श्रद्धांजलि 

आज हमारे देश ने फिर से उसी शोक को याद किया जब 14 फरवरी साल 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले नेे पूरे देश को झिनझोर दिया थाा। आज उसी शोक भरे दिन की तीसरी बरसी है जीस भयावह हमले में CRPF के 40 जवान आतंकवादियो के साजिश का शिकार हो गए। आज उन्हीं शहीद जवानो को याद करके सभी देशवसियो की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। 

सेना प्रमुख MM नरवणे ने दी श्रद्धांजलि

पुलवामा हमले के शहीदो को सेना प्रमुख MM नरवणे ने भी श्रद्धांजलि दी। जब आज से 3 साल पहले पुलवामा में CRPF के जवानो की एक बस को आतंकवादियो ने विस्फोटक से उड़ा दी। इस धमाके में 40 से भी ज्यादा जवान शहीद हो गए हालांकि यह हमला जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के विरोध में मील का पत्थर साबित हुआ। लेकिन इसके बाद भारत ने  एयर स्ट्राइक की और पाकिस्तानी आतंकवादियो के अड्डे को तबाह कर दीया।

PM नरेंद्र मोदी ने कहा

आज उस दुखद घटना घटना के तीसरे साल पर PM नरेंद्र मोदी ने कहा “मैं आज साल 2019 में आज के दिन पुलवामा में शहीद हुए सभी लोगो को श्रद्धांजलि देता हूं और हमारे देश के लिए उनकी उत्कृष्ट सेवा को याद करता हूं। उनकी बहादुरी और सर्वोच्च बलिदान हर एक भारतीय को एक मजबूत और समृद्ध देश की दिशा में काम करने के लिए हमेशा से प्रेरित करता है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा

UP के CM योगी आदित्यनाथ ने भी ट्वीट करके शहीदो को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि पुलवामा आतंकी हमले में बलिदान हुए मां भारती के देशभक्त और देश अमर वीर सपूतो को शत-शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि। आप सब का बलिदान समाज पर ऋण है आप सभी का त्याग आतंकवाद के विरुद्ध हम सभी को एकजुट करता है। जय हिंद”

थरूर ने कहा कैसे हुआ यह हमला

जहां PM नरेंद्र मोदी ने शहीदो के बलिदान को याद किया तो वहीं इस दुखद मौके पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने शहीदो को सलाम करने के साथ ही इस मौके पर एक बड़ा सवाल उठाया है। दरअसल कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि “हमारे पुलवामा शहीद परंपरागत शोक श्रद्धांजलि से ज्यादा के हकदार है यह हमला क्यों और कैसे हुआ? इतनी बड़ी चूक के लिए भला कौन जिम्मेदार था। हम यह सुनिश्चित करने के लिए भला क्या कदम उठा रहे हैं कि ऐसे फिर कभी ना हो शहीदो की याद में सवालों पर विचार माकूल होगा।”

आज देश के सभी नेताओ के अलावा अभीनताओ ने भी दिए पुलवामा शहीदो को श्रद्धांजलि 

असम के CM हेमंत शर्मा ने कहा 

इसी बीच असम के सीएम हेमंत शर्मा ने थरूर पर पलटवार किया है। दरअसल असम के सीएम हेमंत शर्मा का कहना है कि पुलवामा हमले की बरसी पर फिर से विपक्ष ने हमारे शहीदो और एयर स्ट्राइक का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार के प्रति वफादारी दिखाने के चक्कर में थरूर ने सेना के साथ विश्वासघात किया है लेकिन मुझे मेरे देश के सेना पर भरोसा है।”

अशोक गहलोत और अरविंद केजरीवाल

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर CRPF जवानो को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि देश उनके सर्वोच्च बलिदान के लिए हमेशा ऋणी रहेगा।

अभिनेता अनुपम खेर ने ट्वीट कर कहा

अभिनेता अनुपम खेर ने भी ट्वीट करके कहा “14 फरवरी साल 2019 को पुलवामा हमले के शहीदो को मेरी हार्दिक श्रद्धांजलि है और मैं इन शहीदो के परिवार के सभी सदस्यो को भी सलाम करता हूं।

अक्षय कुमार ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि

अभिनेता अक्षय कुमार ने पुलवामा शहीदो को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा “पुलवामा में आज के दिन अपनी जान गवाने वाले हमारे सभी वीर जवानो को मेरी तरफ से श्रद्धांजलि। हम देश के उन महान वीर और उन सभी के परिवारो के सर्वोच्च बलिदान के लिए हमेशा ही ऋणी रहेंगे।

पुलवामा शहीद दिवस

साल 2019 को हुए पुलवामा आतंकी हमले में शहीद देश के CRPF जवानो को श्रद्धांजलि देने के लिए जम्मू-कश्मीर छात्र कल्याण मंच द्वारा बारामूला में पुलवामा शहीद दिवस का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की शुरुआत में शहीदो को याद कर दीप प्रज्वलित किए गए और 2 मिनट का मौन रखा गया। विभिन्न स्वयंसेवी युवाओ ने मंच पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और अंखिरि में राष्ट्रगान गाकर कार्यक्रम का समापन हुआ। इस कार्यक्रम का आयोजन सभी सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल के साथ किया गया था।

पुलवामा में शहीद हुए 40 CRPF के वीर जवानो के सर्वोच्च बलिदान को याद करते हुए इस कार्यक्रम में मेहमानो की लिस्ट में ब्रिगेडियर आलोक दास, सेना मेडल, कमांडर हैदरबैग, सेक्टर राष्ट्रीय राइफल्स और अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल थे। साथ ही इस कार्यक्रम में 21 NCC कैडेटो के साथ डेढ़ सौ से भी अधिक युवाओ ने भाग लिया था। यह आयोजन आवाम और जवान के आपसी सम्मान, भाईचारे को मजबूत करने की दिशा में एक सफल प्रयास रहा।

आज देश के सभी नेताओ के अलावा अभीनताओ ने भी दिए पुलवामा शहीदो को श्रद्धांजलि 

14 फरवरी साल 2019 को हुए इस घटना के बाद सरकार की नीतियो ने कड़ा रुख किया और आतंक की कमर तोड़ने के लिए कई अभियान चलाए। तीसरी बरसी से पहले पुलवामा अटैक को लेकर आइ एक किताब में अहम खुलासा किया गया है जिसके अनुसार आत्मघाती हमलावर द्वारा विस्फोट में उड़ा दी गई बस के ड्राइवर जयमल सिंह को उस दिन गाड़ी नही चलानी थी जिस दिन यह घटना घटी थी और वह किसी अन्य साथी के जगह पर आए थे। 

लेफ्टिनेंट जनरल KJS  ढिल्लो 14 फरवरी साल 2019 को हुए पुलवामा हमले के तीसरे साल होने के बने के मौके पर कहा कि सुरक्षाबलों ने हमले के सौ घंटे के भीतर ही पाकिस्तानी नागरिक कामरान के नेतृत्व वाले मॉड्यूल को खत्म कर दिया था। उस समय लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लो श्रीनगर में 15 कोर की कमान संभाल रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवादी इस हद तक मरने से डरते थे कि जैश-ए – मोहम्मद के खिलाफ की गई सुरक्षा बलो की कार्रवाई के बाद कोई भी इसका नेतृत्व नहीं करना चाहता था।

न्यूज़ एजेंसी ANI से बात करते हुए ढिल्लो ने कहा कि सुरक्षाबलो ने हमले के 100 घंटे के अंदर ही पाकिस्तानी आतंकी के नेतृत्व वाले मॉड्यूल को खत्म कर दिया था। जिसका पुलवामा हमले के पीछे पुलवामा हमले के पीछे हाथ था, जैश मोहम्मद के खिलाफ सुरक्षाबलो के ऑपरेशन के बाद उनके आतंकवादी मरने से डरते थे। कोई भी उनका नेतृत्व नहीं करना चाहता था उन्होंने कहा कि हमारे पास ऐसे इंटरसेप्ट मौजूद है जिससे यह पता चला कि पाकिस्तान की ओर से आतंकवादियो के नेतृत्व की भूमिका निभाने के लिए कहा गया लेकिन उन्होंने मना कर दिया।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!