Homeहिन्दीजानकारीगुवाहाटी बीकानेर एक्सप्रेस ट्रैन दुर्घटना में 12 डब्बे उतरे पटरी से नीचे...

गुवाहाटी बीकानेर एक्सप्रेस ट्रैन दुर्घटना में 12 डब्बे उतरे पटरी से नीचे कई यात्री घायल

देर रात बीकानेरी से निकलने वाली ट्रेन बीकानेर एक्सप्रेस जो असम से गुवाहाटी जा रही थी जलपाईगुड़ी और मैनाकुडी के बीच पटरी से उतर गई। यह हादसा जलपाईगुड़ी के डोमोहनी में हुआ पटना की ओर से गुवाहाटी जा रही बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन की यह दुर्घटना कल शाम करीब 5:00 बजे हुई। जिसमें ट्रेन की 12 बोगीया पटरी से उतर गई इस हादसे में 8 से 10 यात्रियो की मौत हो गई और ज्यादातर लोग जख्मी हैं। 

घटनास्थल पर पूरी रात बचाव और राहत कार्य जारी

घटनास्थल पर लगातर राहत और बचाव कार्य जारी है इस दुर्घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय लोग वहां पहुंचे और राहत बचाव कार्य में जूट गए। इस भयानक हादसे के का कारण तो अभी तक पता नहीं चल पाया है खबरो के अनुसार घायलो को इलाज पहुंचाने के लिए 40 से 50 एंबुलेंस घटनास्थल के लिए रवाना हुए। सिलीगुड़ी से भी रिलीफ ट्रेन में भेजी गई इसके अलावा कटिहार से भी ट्रैन भेजा गया जिसे घटनास्थल तक पहुंचने में करीब 4 घंटे का समय लगता है।

सामने आई तस्वीरो के को देखकर आप जान सकते हैं कि यह घटना कितनी भयानक है ट्रैन को काटकर लोगो को निकाला जा रहा है। यात्रियो का कहना है कि जब ट्रेन का यह हादसा हुआ उससे पहले यात्रीयो को जोर का झटका लगा और ट्रेन में भागमभागी मच गई। उसी ट्रेन पर सवार एक यात्री ने बताया कि मैं S1 में था और जब हम यात्री ट्रैन से बाहर निकले तो  देकि ट्रेन की बोगी पलट गई थी और दो से चार डब्बे तो पूरी तरह से खत्म हो गए थे।

इस हादसे की खबर मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से घटना के बारे में जानकारी ली। दरअसल जब PM नरेंद्र मोदी को इस घटना की जानकारी मिली उस समय वह कोरोना के हालात को लेकर बैठक कर रहे थे जिस दौरान उन्हें इस हादसे की खबर मिली और इस बैठक में पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी भी वहींमौजूद थी


यात्रियो से बात करने के बाद इस बात की जानकारी मिलि कि ट्रेन जलपाईगुड़ी स्टेशन से निकला ही था कि अचानक गाड़ी में बैठे सवारियो को जोर से झटका लगने लगा पूरा ट्रैन अजीब तरह से कांप रहा था। ट्रेन पर उपर रखा सारा सामान इधर-उधर गिरने लगा और ट्रेन में सवार सभी लोग एक दूसरे से टकराने लगे जिसके बाद सभी लोग काफ़ी डर गए और उन्हें एहसास होने लगा कि वह भारी खतरे में है इसीलिए वह डर के मारे मदद के लिए चिल्लाने लगे।

राजस्थान के बीकानेर से चली गुवाहाटी बीकानेर एक्सप्रेस (15633) नामक इस गाड़ी में राजस्थान के 872 लोग सवार थे, जिसमें 308 यात्री बीकानेर से सवार हुए थे और 564 जयपुर से चढ़े थे।

इस दुर्घटना के होने के बाद बीकानेर के लोगो की चिंता काफी बढ़ गई क्योंकि बीकानेर के ज्यादातर लोग असम के गुवाहाटी में रहते हैंं। इसीलिए बीकानेर के रहने वाले लोगो में इस घटना को लेकर चिंता काफी बढ़ गई है बीकानेर के ज्यादातर लोग असम के बंगाईगांव जाने के लिए इस ट्रेन में सवार होते हैं।

घटना होने के बाद ही रेल मंत्री भी जमाना हुए जलपाईगुड़ी के लिए हार्दिक हादसे की जानकारी मिलते ही रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके त्रिपाठी और डायरेक्टर जनरल घटनास्थल के लिए निकले। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव हालात का जायजा लेने के लिए जलपाईगुड़ी रवाना हो चुके हैं। रेलवे ने मृतको के परिजनो के लिए ₹5 लाख, गंभीर रूप से घायलो के लिए ₹1 लाख और सामान्य चोट लगने वाले यात्रियो के लिए ₹25 हजार के मुआवजे देने का ऐलान किया है। 

PM नरेंद्र मोदी रेल मंत्री से कहा

प्रधानमंत्री ने रेल मंत्री से बात की नरेंद्र मोदी ने ट्रेन हादसे के सिलसिले में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात करके पश्चिम बंगाल में हुए ट्रेन हादसे की इस स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने ट्वीट करके यह भी कहा कि रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात कर कहा कि मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारो के साथ है और मैं घायलो के जल्द ही स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

जलपाईगुड़ी के DM ने जानकारी देकर कहा कि सभी घायलो को नजदीकी अस्पतालो में इलाज किया जा रहा है। वही CPRO रेलवे कैप्टन शशी किरण ने बताया कि इस हादसे के बाद यात्रियो के परिजनो के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अलग-अलग स्टेशनो के लिए अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं, इन नंबरो पर कॉल करके आप अपने परिवार की स्थिति जान सकते हैं और बात कर सकते हैं।

गुवाहाटी बीकानेर एक्सप्रेस ट्रैन दुर्घटना में 12 डब्बे उतरे पटरी से नीचे कई यात्री घायल

पिछले साल तत्कालीन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राज्यसभा को बताया था कि 22 मार्च साल 2019 के बाद से रेल हादसो में किसी यात्री की जान नहीं गई है।अश्विनी वैष्णव ने भी पिछले साल जुलाई महीने में राज्यसभा को बताया कि साल 2020- 2021 के दौरान किसी रेल यात्री की मौत नहीं हुई। उससे पहले साल 2019 में रेलवे ने 16 मौते दर्ज की थी लेकिन पिछले दो साल में मौत नहीं होने की उपलब्धि को रेलवे ने 166 साल के इतिहास में पहली उपलब्धि कहा था।

जांच का आदेश 

इस भयानक दुर्घटना के होने के बाद रेलवे ने हादसे की जांच करने का आदेश जारी किया है हालांकि हादसे का कारण अभी पता नहीं चल पाया है। दुर्घटना में घायलो को तेजी से अस्पतालो में भर्ती करके उनका इलाज चलाया जा रहा है वहीं सभी लोग एक के बाद एक करके घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण करने में लगे हुए हैं।

पश्चिम बंगाल सरकार के सूत्रो के अनुसार अब तक कम से कम 50 घायलो को बचाया गया है जानकारी के अनुसार 10 यात्री गंभीर रूप से जख्मी है। 24 लोगो को जलपाईगुड़ी के जिला अस्पताल में भर्ती कराए गया जबकि 16 लोगो को मयनागुड़ी सरकारी अस्पताल में भेजा गया है। न्यू फ्रंटियर रेलवे सूत्रो ने बताया कि गंभीर रूप से घायल यात्रियो को सिलीगुड़ी के नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट किया जाएगा।

रेलवे सूत्रो के अनुसार कई यात्रियो के पटरी से उतरे डिब्बो के अंदर फंसे होने की भी आशंका है और ट्रेन के डब्बे में फंसे घायल यात्रियो को निकालने के लिए डिब्बो को काटने वाले गैस कटर का उपयोग करके डिब्बो को काटकर फंसे यात्रियो को निकाला जा रहा है।

बंगाल की CM ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जिला अधिकरियो से बात की और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियो को मौके पर पहुंचने की खबर ली। ममता बनर्जी ने ट्वीट करके कहा कि मयनागुरी में बीकानेर गुवाहाटी एक्सप्रेस की दुखद दुर्घटना के बारे में सुनकर मैं बहुत चिंतित हूं। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी, SP, DM, IG उत्तर बंगाल बचाओ और राहत कार्यों की निगरानी कर रहे हैं और घायलो को अच्छे से अच्छा चिकित्सा सहायता देने के प्रयास में लगे हुए हैं।

राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने दुख जताया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु ने रेल हादसे पर दुख जताया है और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, बीकानेर एक्सप्रेस का पटरी से उतरना दुखद है। मेरी प्रार्थनाएं प्रभावित यात्रियों और उनके परिजनों के साथ है। उपराष्ट्रपति कार्यालय ने नायडु के हवाले से ट्वीट किया, मेरी संवदेना प्रभावित परिवारों के साथ है।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!