Homeहिन्दीजानकारीसाहस और शौर्य वीर विपिन रावत का हुवा निधन --- बिपिन रावत...

साहस और शौर्य वीर विपिन रावत का हुवा निधन — बिपिन रावत के निधन के बाद पूरा देश गम और शोक में डूबा

साहस और शौर्य वीर विपिन रावत अब इस दुनिया में नहीं रहे। अपना पूरा करियर उन्होंने भारतीय सेना के सेवा में गुजारा है वह उचाई पर जंग लड़ने के एक्सपर्ट रहे हैं। बिपिन रावत ने सेना में महत्वपूर्ण योगदान दिया है वह देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ रहे हैं। तमिलनाडु जिले के कुन्नूर में 8 दिसंबर को हुए सेना के हेलीकॉप्टर क्रैश के हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और उनकी पत्नी का निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक पता चला कि इस हेलीकॉप्टर में 14 लोग थे जिनमें से 13 की मौत हो चुकी है जबकि इस हेलिकॉप्टर हादसे के इकलौते सर्वाइवर रहे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह अस्पताल में भर्ती है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च साल 1958 को उत्तराखंड में एक गढ़वाली राजपूत परिवार में हुआ था। बिपिन रावत ने साल 1978 में आर्मी ज्वाइन की थी बिपिन रावत ने साल 2011 में चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से मिलिट्री मीडिया स्टडीज में पीएचडी की डिग्री भी ली थी। बिपिन रावत ने 1 सितंबर साल 2016 को आर्मी के वाइस चीफ का पद संभाला और 31 दिसंबर साल 2016 को इंडियन आर्मी के 26 वें चीफ की जिम्मेदारी ली। वही 30 दिसंबर साल 2000 को उन्हे भारत के पहले CDS के रूप में नियुक्त किया गया। बिपिन रावत ने 1 जनवरी साल 2020 को उन्होंने CDS का पदभार ग्रहण किया।

बिपिन रावत के निधन के बाद पूरा देश गम और शोक में डूबा हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सभी बड़े नेताओं ने इस बात पर शोक जताया।हेलीकॉप्टर क्रैश की घटना में सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन होने के बाद से पूरा देश शोक में डूब गया है इस घटना में जनरल रावत के अलावा 12 अन्य लोगो की भी मौत हो गई है।

रामनाथ कोविंद ने कहा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि मैं जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका के असामयिक निधन से स्तब्ध और पूरी तरह से व्यथित हूं। देश ने अपने सबसे बहादुर सपूतो में से एक को खो दिया है ।मातृभूमि के लिए उनकी चार दशको की निस्वार्थ सेवा असाधारण वीरता का परिचय था । और उन सभी के परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं है जिन्होंने इस घटना में अपनी जान गवाई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि हेलीकाप्टर दुर्घटना में लोगो की जान जाने के बारे में जानकर मुझे बेहद दुख हुआ। मैं अपने कर्तव्य का पालन करते हुए मरने वालो में से हर किसी को श्रद्धांजलि देने में सभी नागरिको के साथ शामिल होता हूं।

साहस और शौर्य वीर विपिन रावत का हुवा निधन — बिपिन रावत के निधन के बाद पूरा देश गम और शोक में डूबा

उनकी मृत्यु के बाद जिस तरह पूरा देश शोक में डूबा हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ उनके परिवार वालो के साथ उनके गांव के गांव में हर एक व्यक्ति उनके निधन से बहुत दुखी है। उनके गांव वालो ने बताया कि  विपिन रावत की मृत्यु देश और परिवार के लिए बहुत बड़ी क्षति है। PM नरेंद्र मोदी ने रावत के निधन के बाद कहा कि भारत के पहले सीडीएस के रूप में जनरल बिपिन रावत ने रक्षा सुधारो के साथ हमारे सशस्त्र बलो से संबंधित विविध प्रकार के पहलुओ पर काम किया है। वह अपने साथ ही सेना में सेवा करने का एक समृद्ध अनुभव लेकर आए भारत उनकी असाधारण सेवा को कभी भूल नहीं सकता। 

PM नरेंद्र मोदी ने कहा

जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनरल बिपिन रावत एक उत्कृष्ट सैनी थे। एक बहादुर और उत्कृष्ट सैनिक थे जिन्होंने सच्चे भाव से हमारे देश के सशस्त्र बलो और सुरक्षा तंत्र के आधुनिकीकरण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने कहा कि सामरिक मामलो पर उनकी अंतर्दृष्टि और दृष्टिकोण और साधारण थे उनके उनके निधन से मुझे गहरा दुख पहुंचा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में हेलीकॉप्टर दुर्घटना से वह हुए दुर्घटना से मैं बहुत दुखी हूं जिसमें हमने जनरल बिपिन देश के बहादुर शेर जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी के साथ ही सशस्त्र बलो के अन्य महान कर्मियो को खो दिया।

उन्होंने पूरी लगन से हमारे देश की सेवा की मेरी संवेदनाएं हमेशा शोक संतप्त परिवारो के साथ हैं। CDS जनरल बिपिन रावत के निधन को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि मैं जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी के निधन के बाद परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। यह एक अभूतपूर्व त्रासदी है और इस कठिन समय में हमारी संवेदनाएं हैं उनके परिवार के साथ अपनी जान गवाने वाले अन्य सभी लोगो के प्रति भी मेरी संवेदना है और इस दुख की घड़ी में भारत एक साथ खड़ा रहे यही मेरी कामना है।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!