Homeहिन्दीजानकारी"रक्षा बंधन 2021" इस रक्षाबंधन अपनी बहन को दें प्यार, सम्मान और...

“रक्षा बंधन 2021” इस रक्षाबंधन अपनी बहन को दें प्यार, सम्मान और बराबरी का अधिकार

भारत में विभिन्न प्रकार के रंग बिरंगी खुशियो के त्योहार मनाए जाते हैं कभी दिवाली तो कभी होली।यहां हर धर्म के लोग मिलजुलकर सभी तरह के त्योहारो को एक साथ मनाते हैं। जिस प्रकार रक्षाबंधन को ही ले लीजिए जो बहन भाई के अटूट प्रेम को दर्शाने वाला त्यौहार होता है। हर साल रक्षाबंधन का त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि के दिन मनाया जाता है। रक्षाबंधन भाई बहन के प्रेम का प्रतीक एक महत्वपूर्ण पावन त्यौहार होता है। 

22 अगस्त रविवार के दिन मनाया जाएगा। जिसे लेकर बहन और भाई रक्षाबंधन के 10 दिन पहले से ही अपनी अपनी तैयारियो लग जाते हैं। बाजार राखियो से सजी रहते हैं बाजारो में विभिन्न प्रकार के सुंदर सुंदर राखीया उपलब्ध होती है। श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाए जाने वाले राखी के त्यौहार में एक बहन अपने भाई को प्रेम से राखी बांधती है इसीलिए यह दिन भाई बहन के लिए खास दिन होता है। इस दिन बहन भाई को राखी बांधती है और बदले में भाई बहन को तोहफा देता है। बहने सुबह उठकर स्नान आदि करके नए कपड़े पहन कर पूजा करती है और फिर राखी की थाल सजाकर भाई को राखी बांधती है। 

रक्षाबंधन पर भाईयो को रखना चाहिए ध्यान

बहने तो इस दिन हर एक चीज नियम के अनुसार पूरी सावधानी के साथ करती है। ठीक वैसे ही भाइयो को भी राखी के दिन कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए।कई भाइयो की आदत होती है कि वह घर से बाहर जाते रहते हैं, इधर उधर घूमते हैं, अपने दोस्तो के साथ समय बिताते हैं और कुछ लोग अपने घर से काम के सिलसिले में भी बाहर जाते हैं। लेकिन राखी के त्यौहार पर हर एक भाई को ध्यान रखना चाहिए कि वह उस दिन कहीं बाहर ना जाए। क्योंकि सबसे पहले उस दिन आपको अपनी बहन के पास जाना चाहिए। या फिर अगर वे आपके वहां आ रही है तो आपको उनका इंतजार करना चाहिए इसके बाद ही आपको कहीं जाना चाहिए। कई भाई राखी के दिन सुबह देर से उठते हैं जिस कारण उन्हें तैयार होने में देर लगती है। लेकिन राखी बांधने का भी एक मुहूर्त होता है इसीलिए अगर राखी का त्यौहार है तो समय से मुहूर्त पर उठकर बहन से राखी बनवानी चाहिए।

रक्षाबंधन पर बहनो को जरूर दें तोहफ़ा 

जब एक बहन अपने भाई को राखी बांधती है तो भाई का फर्ज होता है कि वह बदले में अपनी बहन को कोई उपहार दे। लेकिन कई भाई इस बात को नहीं समझते दरअसल उपहार देने से दोनो का रिश्ता मजबूत होता है। साथ ही भाई का दिया हुआ तोहफा एक बहन के लिए खास होता है और वह चाहती है कि राखी के दिन उन्हें तोहफा जरूर मिले।

बहनो को हमेशा दें प्यार और सम्मान

दुनिया में हर कोई जानता है कि भाई बहन का रिश्ता मारपीट झगड़े वाले होते हैं। लेकिन कई लोग अपनी बहन को हमेशा परेशान करते रहते हैं उनकी बात नहीं सुनते और उनका सम्मान भी नहीं करते। लेकिन यह बिल्कुल गलत है हर समय बहन का सम्मान करना चाहिए, बहन का ध्यान रखना चाहिए। राखी के दिन ही क्यों दुनिया में राखी के त्योहार से हर भाई को यह सीख लेनी चाहिए कि बहन के रुप में आपको मां की तरह प्यार और ख्याल रखने वाली आपको ऐसे ही नहीं मिलि है। बहने भगवान का दिया हुवा प्यारा सा तोहफा होती है उसके साथ कभी ऊंची आवाज में बात ना करें। 

“रक्षा बंधन 2021” इस रक्षाबंधन अपनी बहन को दें प्यार, सम्मान और बराबरी का अधिकार

अगर आपकी बहन आपसे छोटी है तो उन्हें बहुत सारा प्यार दें और बड़ी है तो उनका सम्मान करें।क्योंकि दुनिया में हर किसी को हर किसी से प्यार और सम्मान की आशा रहती है। ऐसे में हर भाई को अपनी सम्मान करना चाहिए और भगवान के दिए हुए तोहफ़े से प्यार करना चाहिए कदर करनी चाहिए।

एक भाई की अपनी बहन के प्रति कई प्रकार जिम्मेदारिया भी होती है। जिनसे भाइयो को कभी कभी मुंह नहीं मोड़ना चाहिए जैसे कि सपोर्ट करने का वादा एक बहन के लिए यह जरूरी होता है कि उसका भाई उसे हर समय सपोर्ट करें। चाहे उसकी शादी हो गई हो या ना हो एक सच्चा भाई अपनी बहन को हमेशा सपोर्ट करता है। इसीलिए आपको वादा करना चाहिए कि आप हर परिस्थिति में अपनी बहन को सपोर्ट करेंगे।

तो चलिए इस राखी हम सब मिलकर अपनी बहन से वादा करें कि उसे हमेशा अपना एक अच्छा दोस्त बना कर रखेंगे। आप हर दुख सुख में उसका साथ देंगे तभी वह आपसे अपने सभी बातो को शेयर कर सकेगी अपनी परेशानी और खुशी आपको बताएगी।  और जिस प्रकार दोस्त एक दूसरे की मदद करते हैं आप भी वैसे ही अपनी बहन की मदद करेंगे।

उनकी मर्जी को भी प्राथमिकता दें ज्यादातर क्षेत्रो में देखा जाता है कि घर में बहन को इतना मान नहीं दिया जाता है। घर से जुड़े फैसले हो या उनसे भी जुड़े फैसले हो तो ज्यादातर भाई या माता-पिता अपनी मर्जी सुना देते हैं। लेकिन ऐसा करना गलत है आपको ध्यान देना चाहिए कि कुछ फैसले ऐसे होते हैं जो उन्हें खुद से लेने की आज़दी  देना जरूरी होता है।

जिस प्रकार आप एक घर के बेटे हैं उसी प्रकार आपकी बहन भी उसी घर की बेटी है। इसीलिए घर के फैसले में बेटियो का भी बराबरी का हक होता है जो आपको समझना जरूरी है। ऐसे में अगर माता-पिता कुछ हद तक भेदभाव भी करे तो भाई को आगे बढ़ कर अपनी बहन के प्रति होने वाले भेदभाव को रोकना चाहिए।

कुछ लड़कियां घर से अकेले बाहर जाना पसंद नहीं करती क्योंकि वह अंदर से मजबूत नहीं होती और उनके मन में कई तरह के डर होते हैं। ऐसे में भाई को अपनी बहन को मजबूत बनाने का वादा करना चाहिए और उसे निभाना भी चाहिए। हर भाई का फर्ज होता है कि वह अपनी बहन में आत्मविश्वास पैदा करें। ताकि वह अकेले फैसले ले सके, अकेले बाहर जा सके और अपने सामने आने वाले मुसीबतो का डटकर सामना कर सके।

अगर एक भाई इन सब बातो को समझ सके और अपनी बहन को प्यार सम्मान देउनकी कदर करें। उन्हेंउनके अधिकार का एहसास कराए यही एक बहन के लिए सबसे बड़ा तोहफा होगा राखी का।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!