ऑनलाइन शॉपिंग के दौर मैं होने वाले फ्रॉड से रहे सावधान नहीं तो हो सकते हैं भारी नुकसान।

1
ऑनलाइन शॉपिंग के दौर मैं होने वाले फ्रॉड से रहे सावधान नहीं तो हो सकते हैं भारी नुकसान।
ऑनलाइन शॉपिंग के दौर मैं होने वाले फ्रॉड से रहे सावधान नहीं तो हो सकते हैं भारी नुकसान।

कोरोना संकट और लॉकडाउन के कारण इंटरनेट पर लोगो की निर्भरता पहले से ज्यादा हो गई है। ऑनलाइन शॉपिंग से लेकर बड़े-बड ट्रांजैक्शन तक सबके के लिए लोग इंटरनेट बैंकिंग या ऑनलाइन पेमेंट एप्स की मदत लेते हैं। लेकिन जिस प्रकार ऑनलाइन कामकाज बढ़ते जा रहे हैं उसी तरह अब लोग ऑनलाइन होगी का काम भी शुरू कर दिए हैं ऐसे में ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान बहुत से लोग अब फ्रॉड का शिकार हो रहे हैं।

आज जिस प्रकार आज ऑनलाइन माध्यम से शॉपिंग का चलन तेज हो चुका है ऐसे में लोगो में ऑनलाइन खरीदारी का शौक भी बढ़ गया है। क्योंकि ऐसा करने से लोगो का समय बचने के साथ ही वे घर बैठे कम समय में अपनी चीज को घर पर ही पा सकते हैं। ऐसा होने के कारण ऑनलाइन शॉपिंग के प्रति लोगो का विश्वास भी काफी बढ़ गया है लेकिन कुछ लोग अब इस सबका गलत फायदा उठा रहे हैं।

इसीलिए अब हर किसी को इस क्षेत्र में सावधानी बरतने की बेहद आवश्यकता है नहीं तो वह बैठे-बिठाए फ्रड का शिकार हो जाते हैं और अपना काफी नुकसान कर बैठते हैं। आजकल ऑनलाइन शॉपिंग का दौर तेज होने के कारण कुछ लोग अब इस क्षेत्र में फ्रड का शिकर हो रहे हैं। इसीलिए ऑनलाइन शॉपिंग करने पर हमेशा लोगो को कुछ बातो का ध्यान रखना और सावधानी बरतने की आवश्यकता है। तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसे बातो के बारे में जिनका ऑनलाइन खरीदारी के मामले में ध्यान रखना बेहद जरूरी है ताकि हम किसी प्रकार फ्रॉड का शिकार ना हो सके।

ऑनलाइन शॉपिंग में फ्रॉड कैसे होते हैं 

ऑनलाइन शॉपिंग के जरिए किसी यूज़र के साथ तब फ्रॉड होता है जब वह किसी फ्रॉड वेबसाइट या किसी फेक मेल के मदद से शॉपिंग कर लेते हैं। इसके जरिए फ्रॉड करने का मकसद आपकी बैंकिंग डिटेल्स को लेना होता है। जिसके बाद आपके बैंक अकाउंट तक पहुंचकर आपका बैलेंस खाली कर दिया जाता है और आप समझ ही नहीं पाते। 

जब भी किसी वेबसाइट से शॉपिंग करें तो उसकी पहचान करनी बेहद जरूरी होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि आजकल ऐसे कई कंपनिया जैसे कि अमेजॉन और फ्लिपकार्ट के नाम से फर्जी लिंक शेयर करते हैं। और लोगो को ऐसे विज्ञापन दिखाती है जो उनके झांसे में आसानी से आ जाते हैं। इस प्रकार विज्ञापनो में महंगे सामानो को काफी सस्ते दामो में खरीदने का खरीदने का लालच देती है और जब आप उसे खरीद लेते हैं। तो वह आपको नकली सामान भेज देते हैंऔर इसीलिए सामान खरीदने से पहले किसी भी वेबसाइट की सही से परख करना बहुत जरूरी होती है। अब आप लोग सोच रहे हैं कि हम वेबसाइट की परख कैसे कर सकते हैं तो चलिए जानते हैं

* वेबसाइट की पहचान करें 

कोई भी वेबसाइट सिक्योर है या नहीं सबसे पहले इस बात की जानकारी होना बेहद जरूरी है और इसकी पहचान आप कर सकते हैं। अगर वेबसाइट के URL की शुरुआत में हरें रंग का लॉक है या फिर उसमें https नहीं है तो वो वेबसाइट सिक्योर नहीं है। इस प्रकार की वेबसाइट से क्रेडिट/डेबिट कार्ड या बैंक से संबंधित निजी जानकारी चोरी की जा सकती है।

हमारे पास सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ऐसे कई विज्ञापन आते हैं। जिसमें हजारो की चीज 100 या 150 रुपए में खरीदने का मौका दिया जाता है। इस प्रकार मैसेजेज के लिए अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी वेबसाइट का लोगो भी उपयोग किया जाता है। अगर इस विज्ञापन को ध्यान से देखा जाए तो इनका URL अलग नाम से होता है। इस प्रकार के विज्ञापन पर विश्वास करना हानिकारक होता है इससे आपके पास नकली सामान भी डिलीवर किया जा सकता है।

* असली-नकली प्रोडक्ट की पहचान करें

जब आप किसी भी वेबसाइट से किसी प्रकार के प्रोडक्ट को खरीदते हैं तो उसके लेवल को ध्यान से जरूर देखे। आपको बता दें अमेजॉन या फ्लिपकार्ट से भेजे जाने वाले प्रोडक्ट्स पर “flipkart assured” और “amazon fulfilled” का लेवल रहता है। अगर किसी वेबसाइट पर यह लेवल न हो तो उन्हें बिल्कुल ना खरीदेंं।

* Cash On Delivery 
कभी भी ऑनलाइन शॉपिंग बचना चाहते हैं तो आपको हमेशा ही कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन ही यूज करना चाहिए। क्योंकि इसमें आप फ्रॉड से बच सकते हैं क्योंकि कुछ यूजर्स ऑनलाइन शॉपिंग करते दौरान पेमेंट करते समय ही फ्रॉड के शिकार हो जाते हैं। जिस कारण उन्हें बाद में समस्याओ का सामना करना पड़ता है उन्हें भारी नुकसान हो जाता है।इसीलिए इससे बचने के लिए यूजर हमेशा आपको यूजर्स को कैश ऑन डिलीवरी ऑप्शन ही सेलेक्ट करना सही होता है।

* Check Product
जब भी आप सामान को ऑनलाइन आर्डर करें उसके बाद जब भी आप सामान को रिसीव करें तो उस समय आपको अपने सामान को चेक करना चाहिए।क्योंकि ऐसा बहुत बार होता है कि कंपनी कोई दूसरा प्रोडक्ट पहुंचा देते हैं। जिसे आप चेक करते दौरान कंफर्म कर सकते हैं और उस सामान को लेने से बच सकते हैं।

* Payment Refund
सामान को वापिस करते समय रिफंड का भी ध्यान रखना जरूरी होता है। जब भी आप कभी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो आप जिस माध्यम से प्रोडक्ट खरीदते हैं यानि खरीदने के लिए पेमेंट करते हैं। आपके समान रिफंड करने के बाद उसी माध्यम से पैसे रिफंड किए जाते हैं।

मान लीजिए अगर आप सामान खरीदने के लिए ऑनलाइन पेमेंट करते हैं तो आपको वह पैसे ऑनलाइन ही वापस मिलेंगे। लेकिन अगर आप कैश ऑन डिलीवरी यानी डिलीवरी बॉय को पैसे देकर सामान लेते हैं तो आपके सामान वापस करने के बाद डिलीवरी बॉय ही पैसे वापस देगा। लेकिन अगर आप शॉपिंग के लिए ऑनलाइन पेमेंट करते हैं तो प्रोडक्ट का जो प्राइस था वह आपके बैंक अकाउंट में ही रिफंड आएगा। 

ऑनलाइन शॉपिंग के दौर मैं होने वाले फ्रॉड से रहे सावधान नहीं तो हो सकते हैं भारी नुकसान।

इसके लिए आपको बैंकिंग की कोई डिटेल्स देने की भी आवश्यकता नहीं होती। लेकिन कभी-कभी फ्रॉड कॉल आते हैं और आपसे पैसे रिफंड होने के लिए आपसे आपके बैंकिंग डिटेल्स मांगते हैं जो कि बिल्कुल गलत है। क्योंकि इसके लिए आप पैसे रिफंड के लिए आपको किसी प्रकार बैंकिंग डिटेल देने की जरूरत नहीं होती। आप जिस माध्यम से पेमेंट करते हैं उसी माध्यम से आपका पेमेंट रिफंड भी हो जाता है।

इसीलिए इस बीच आप किसी प्रकार फ्रॉड के चक्कर में ना पड़ें। साथ ही अगर डिलीवरी बॉय आपको पैसे ना दे तो भी आपको इस बात का ध्यान रखना है कि अगर आपने कैश ऑन डिलीवरी यानी डिलीवरी ब्वॉय को पेमेंट किया था तो आपको डिलीवरी बॉय से ही पेमेंट रिफंड ले लेना है।

* Details save ना करें
कुछ शॉपिंग वेबसाइट पर यूजर जब सामान ऑर्डर करते हैं तो वहां पर यूजर के डिटेल सेव करने का ऑप्शन होता है। ताकि आप अगली बार से आसानी से शॉपिंग कर पाए लेकिन आपको किसी भी वेबसाइट पर अपनी डिटेल को सेव नहीं करना चाहिए।

ऑनलाइन शॉपिंग के फायदे और नुकसान

  • ऑनलाइन शॉपिंग करने से समय की बचत होती है। हमें कुछ ऐसे सामान भी मिल जाते हैं जो अच्छे होने के साथ ही सस्ते में भी मिलते हैं। अगर इसे बाजारी के दामो से तुलना किया जाए तो इसमें हमें फायदा मिलता हैै। कंपनी समय-समय पर अपने ग्राहकों को डिस्काउंट देती है और अच्छे सामान भी उपलब्ध कराती है। ऐसे में अगर आप किसी खरीदे हुए सामान को वापिस भी करना चाहे तो कंपनी के द्वारा तय किए गए समय के अनुसार आप उस सामान को वापस कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन शॉपिंग में समान आपको घर पर ही मिल जाता है तो उसके बाद आप उसके बाद भी आप पेमेंट कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन शॉपिंग में हमें घर बैठे बैठे ही सामान मिल जाता है। ऐसा करते दौरान हमें घर बैठे ही सामान की पूरी डिटेल मिल जाती है।
  • इसके विपरीत अगर हम ऑनलाइन शॉपिंग के नुकसान की बात करें, तो इसके फायदे की तुलना में इसका नुकसान काफी कम होता है। 
  • ऑनलाइन शॉपिंग में हमें सामान के लिए आर्डर करने के बाद सामान के लिए कुछ टाइम वेट करना पड़ता है। और अगर हमें उस सामान को वापस भी करना हो तो हमें उसे वापस करने में समय लग जाता है।
  • इसके अलावा अगर सामान में किसी प्रकार प्रॉब्लम हो तो भी हमें उसे वापस करने के लिए कंप्लेन करना पड़ता है। ऑनलाइन शॉपिंग के दौर में आज बहुत सारी वेबसाइट उपलब्ध है जिस कारण ग्राहक कंफ्यूज हो जाते हैं और डिस्काउंट के चक्कर में वो किस कंपनी के साथ डील करें वो समझ नहीं पाते।
  • इसी बीच वह फ्रॉड वेबसाइट से भी शॉपिंग कर लेते हैं जिस कारण उन्हें काफी नुकसान हो जाता है।
  • लेकिन सबसे बड़ी बात तो हर कोई जानता है कि जो मजा बाजार से कोई सामान खरीदने में आता है वह ऑनलाइन शॉपिंग में नहीं आता। और कभी-कभी ऐसा भी होता है कि हम ऑनलाइन कुछ और सामान ऑर्डर करते हैं और हमें वह समान मिलनेके बजाए उसके जगह कुछ अलग प्रोडक्ट्स ही भेज दिया जाता है।
  • इस दौरान आपको कभी फ्रॉड कॉल भी आ सकता है और उसमें आपसे ईमेल या कॉल के थ्रू ओटीपी मांगा जाएगा। लेकिन आपको कभी भी उस OTP को शेयर नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर आप उस OTP को बता देते हैं तो इससे आपके बैंक अकाउंट से रुपए निकाले जा सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि ऑनलाइन शॉपिंग से जुड़ी यह जानकारी आप लोगो को अच्छी लगी होगी। ऑनलाइन शॉपिंग में फ्रॉड से कैसे बचे साथ ही उन्हें कैसे समझे इसके लिए इस पोस्ट में हमने आपको जानकारी दी है। जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं इस दौरान आप इन बातो का जरूर से जरूर ध्यान रखें क्योंकि
आज जिस प्रकार ऑनलाइन शॉपिंग का दौर बढ़ गया है उसी प्रकार इस क्षेत्र में फ्रॉड का काम भी काफी तेजी से बढ़ गया है। इसीलिए इन सभी बातो का जरूर से जरूर ध्यान रखें नहीं तो आगे चलकर आपको नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।हम आशा करते हैं कि यह जानकारी आप लोगो के लिए कुछ हद तक फायदेमंद साबित होगी। इस पोस्ट में हमने आपको जो भी जानकारी दी है आप इन पर जरूर अमल करें। ताकि आगे चलकर आप किसी प्रकार फ्रॉड का शिकार ना हो और हमेशा सुरक्षित रह सके।

Leave a Reply