Monday, May 16, 2022
Homeहिन्दीजानकारीWorld laughter day 2021 के अवसर पर आइए जानते हैं इस दिवस...

World laughter day 2021 के अवसर पर आइए जानते हैं इस दिवस की शुरुआत और हंसने के उपयोगिता के बारे में।

हर साल मई महीने के प्रथम रविवार को विश्व हास्य दिवस मनाया जाता है। हर साल इसकी तारीख बदलती रहती है, क्योंकि मई में पढ़ने वाले प्रथम रविवार को यह दिन मनाया जाता है। इस हिसाब से तारीख तारीख अलग-अलग होती है। इस साल यानी साल 2021 में विश्व हास्य दिवस 2 मई के दिन मनाया गया।

World laughter day पर क्या होता है 

विश्व हास्य दिवस के अवसर पर दुनिया भर में हास्य गोष्ठियो का आयोजन होता है। लाफिंग क्लब्स में लोग एक साथ एकत्रित होते हैं हंसते गाते समय व्यतीत करते हैं और एक दूसरे को हंसने के लिए प्रेरित करते हैं। सब लोग अपने अपने ग्रुप में अपने यार दोस्तों के साथ इकट्ठा होते हैं और एक साथ मिलकर जोर शोर से हंसते हैं। हंसने के लिए इस दिन कई प्रकार के कॉमेडी फिल्में, पुराने एल्बम, चुटकुले और अन्य माध्यमो का उपयोग किया जाता है। साथ ही इस दिन laughing योगा का भी अभ्यास करते हैं।

World laughter day मनाने का उद्देश्य 

इस दिन को मनाने का मकसद लोगो को हंसना और हंसाना है। हंसना स्वास्थ्य के लिए एक अच्छा एक्सरसाइज है वही हंसाना व्यक्ति की एक कला। हमारे आसपास फिल्म, कॉमेडी, चुटकुले जैसे कई तरीके मौजूद है जो पढ़कर या देखकर हम पेट पकड़ पकड़ कर हंस सकते हैं।आजकल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में विभिन्न कारणो से लोगो में तनाव और डिप्रेशन होना एक आम बात है जिस कारण बहुत से लोग स्ट्रेस और डिप्रेशन से संबंधित बीमारियो के शिकार भी हो जाते हैं। 

ऐसे में डॉक्टर और एक्सपर्ट्स भी कहते हैं कि टेंशन और डिप्रेशन को दूर करने के लिए लाफ्टर थेरेपी का प्रयोग किया जाना चाहिए। ऐसे में इस दिन को मनाया जाना लोगो के स्ट्रेस, चिंता और डिप्रेशन को दूर करने के लिए मोटिवेट करता है। विश्व हास्य दिवस का आयोजन विश्व शांति के लिए भी किया जाता है। इसका उद्देश्य हास्य के जरिए दोस्ती और भाईचारे का निर्माण करना है। जब लोग खुश होते हैं और स्वस्थ रहते हैं तभी वह विश्वशांति में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। यानी कि सबसे सरल बात यह है कि जब आप हंसते हैं तो आपके आसपास की दुनिया बदल जाती है।

World laughter day की शुरुआत

विश्व हास्य दिवस की शुरुआत साल 1998 में 11 जनवरी के दिन मुंबई में पहली बार वर्ल्ड लाफटर डे को सेलिब्रेट किया गया था और इस दिवस को मनाने की शुरुआत का पूरा श्रेय “गुरु ऑफ गिगलिंग” के नाम से मशहूर लाफ्टर योगा मूवमेंट के संस्थापक डॉक्टर मदन कटारिया को जाता है। इस दिन को मनाने के आयोजन का उद्देश्य यही है कि समाज के लोगों में बढ़ते तनाव को कम किया जाए और खुशहाल जीवन जीने की कला सिखाई जाए। तभी से हर साल मई महीने के प्रथम रविवार को वर्ल्ड लाफटर डे के रूप में मनाया जाता है।

चेहरे के लिए भी है हंसना फायदेमंद 

आंतरिक लाभो के अलावा हमारे शरीर के विभिन्न मांसपेशियो के व्यायाम करने में भी हंसी सहायक होती है। जैसे कि हंसने से चेहरे की मांसपेशियो का व्यायाम हो जाता है यानि व्यक्ति के स्कीन की अच्छी खासी एक्सरसाइज होती है। ठहाके लगाकर हंसने से चेहरे की मांसपेशिया एक साथ काम करती है चेहरे का रक्त प्रभाव भी बढ़ जाता है जिससे व्यक्ति और ज्यादा जवान दिखता है। शरीर की मांसपेशियो और अंगो के आसपास ऑक्सीजन का प्रभाव बढ़ जाता है जिससे व्यक्ति को ज्यादा ऊर्जा मिलती है। 

कई शोध के अनुसार यह भी पता चला है कि कमर के दर्द जैसे असहनीय दर्द में भी हंसना एक प्रभावी उपाय है। असहनीय दर्द होने पर डॉक्टर भी रोगियो के आराम के लिए लाफिंग थेरेपी का उपयोग करते हैं। यही नहीं अगर कोई व्यक्ति 10 मिनट तक ठहाके लगाके हंसता है तो व्यक्ति को 2 घंटे से भी ज्यादा समय के लिए राहत या नींद मिल सकती है। हंसने से रक्त वाहिकाओ का कार्य सुधरता है जिससे दिल का दौरा या दिल से जुड़ी बीमारियो से भी बचा जा सकता है। रोजाना खुलकर हंसने से व्यक्ति के डायबिटीज कंट्रोल होने में भी मदद मिलती है।

हंसने से शारीरिक बदलाव के साथ मानसिक बदलाव भी होते हैं 

हंसने के कई शारीरिक लाभ होने के के अलावा मानसिक लाभ भी मिलते हैं। हंसने से व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य भी मजबूत होता है। हमारे जीवन में आनंद, उत्साह बनता है तनाव दूर होता है और ज्यादा मूड खराब होने पर भी हंसने से मूड ठीक हो जाता है। जापान में तो लोग अपने बच्चो को शुरुआत से ही हंसते रहने की शिक्षा देते हैं। क्योंकि हंसते रहना तनाव, दर्द से संघर्ष का एक शक्तिशाली स्रोत है। हंसने से मन का बोझ हलका होता है, नई आशाए प्रेरित होती है।

World laughter day 2021 के अवसर पर आइए जानते हैं इस दिवस की शुरुआत और हंसने के उपयोगिता के बारे में।

सबसे सरल और अच्छी बात तो यह है कि जब आप हंसते हैं तो आपके आसपास की दुनिया ही बदल जाती है। बिना शर्त के हंसने से हमें अंदर से अच्छा महसूस करने की शक्ति मिलती है। जब आप अंदर से अच्छा महसूस करते हैं तो बाहर की दुनिया की पूरी धारना ही बदल जाती है। मनोवैज्ञानिको के अनुसार यह बात स्पष्ट हुआ है कि जो बच्चे ज्यादा हंसते हैं वह दूसरो की तुलना में ज्यादा बुद्धिमान होते हैं। सभी के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए हंसना बहुत जरूरी होता है। जब हम हंसते हैं तो हम दूसरो से जुड़ते है और केंद्रित करने के साथ सतर्क रहने में मदद करता है।  

आज व्यक्ति कई नकारात्मक चीजो से जूझ रहे हैं जैसे कि हिंसा, आतंकवाद, तनाव, खराब अर्थव्यवस्था, प्राकृतिक आपदाएं, ग्लोबल वार्मिंग। और इन सब चीजो में खुश रहने का केवल एक ही साधन है हंसी। जब लोग खुश होते हैं और स्वस्थ रहते हैं तभी वह विश्वशांति में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। यानी कि सबसे सरल बात यह है कि जब आप हंसते हैं तो आपके आसपास की दुनिया बदल जाती है। 

बिना किसी शर्त के हंसने से हमें अंदर से अच्छा महसूस करने की शक्ति मिलती है और जब आप अंदर से अच्छा महसूस करते हैं तो यह बाहरी दुनिया की बुरी धारणा को ही बदल देता है। हंसना एक सामाजिक, शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक कल्याण के लिए सबसे आसान और कारगर उपाय है। आपको जानकर हैरानी होगी की सामान्य बातचीत के दौरान व्यक्ति जितना ऑक्सीजन लेता है, उससे 6 गुना ज्यादा ऑक्सीजन व्यक्ति हंसते समय लेता है इस तरह शरीर को अच्छी मात्रा में ऑक्सीजन मिल जाता है।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप खुश होकर हंस रहे हैं या किस वजह से हंस रहे हैं लेकिन अगर आप हंसते हैं तो यह आपको अच्छा महसूस कराती है। अपने रिश्ते को मजबूत बनाने और किसी भी परिस्थिति में जब आप परेशान होते हैं तो हंसने से आपकी चिंता कम होती है और कैलरी भी बढ़ती है। हंसी एक सबसे अच्छी दवा है यह एक ऐसी दवा है जो हर परिस्थिति में काम आती है।

हंसने से शरीर में होते हैं अनगिनत फायदे   

हंसने से व्यक्ति के शरीर में ज्यादा मेलेटोनिन का उत्पादन होता है। जो दिमाग के द्वारा रिलीज एक हार्मोन है इससे नींद अच्छी मिलने में मदद मिलती है व्यक्ति के नींद का पैटर्न में काफी सुधार आ जाता है। यही नहीं डिप्रेशन में रहने वाले लोगो के लिए यह एक रामबाण उपाय है। खुलकर हंसना व्यक्ति केइम्यूनिटी यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी ठीक करता है। हंसना एक वर्कआउट है जिसका केवल एक नहीं कई फायदे हैं। खुलकर हंसने से डायफ्राम, पेट और श्वसन प्रणाली के साथ कंधो का व्ययाम होता है और हंसने के बाद मांसपेशियों को बेहद ज्यादा रिलैक्स महसूस होता है।

हंसी पूरे शरीर को आराम देती है यह व्यक्ति को उसके सारे तनाव से दूर रखती है। जिससे कि हमारी मांसपेशियो को लगभग 15 मिनट तक आराम मिलता है। हंसी व्यक्ति के रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी सुधारने का काम करती है। हंसने से दिल की सुरक्षा होती है शरीर में रक्त के प्रवाह बढ़ने लगते हैं। जिससे हम दिल के दौरे और हृदय संबंधी कई समस्याओ से बचे रह सकते हैं। 

हंसने से शरीर की कैलोरी भी बढ़ती है, दिन में 10 से 15 मिनट तक हंसने से करीब 40 कैलोरी बर्न हो सकती है। रोजाना हंसने से शरीर के मानसिक क्रोध को भी कम करने में सहायता मिलती है। जिससे व्यक्ति को नाराजगी और कड़वाहट से बचने में मदद मिलती है। जिन लोगो को ज्यादा गुस्सा आता है उन लोगो को तो खास करके हंसने का काम करना चाहिए।

हंसने से रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है और स्वास्थ संबंधित कई समस्याएं नहीं होती। अगर किसी व्यक्ति को नींद आने में समस्या होती है जल्दी नींद नहीं आती, तनाव होता है तो उनको सोने से पहले हंसना चाहिए ऐसा करने से उनको गहरी और अच्छी नींद आएगी। समय के साथ व्यक्ति की याददाश्त खराब होती जाती है जिसे सुधारने का एकमात्र तरीका है हंसी। हंसने से हमारा दिमाग मजबूत और याददाश्त भी अच्छी रहती है।

सामाजिक दृश्टिकोण से भी हंसना है फायदेमंद 

हंसना एक सामाजिक तंत्र भी है जिसके जरिए हम नए दोस्त बना सकते हैं ज्यादा से ज्यादा लोगो से जुड़ सकते हैं। हंसने से हम अच्छा महसूस करने के साथ सकारात्मक दृष्टिकोण से जुड़ते हैं। हंसने से हमें सकारात्मक भावना बनाने में मदद मिलती है। हास्य कठिन से कठिन परिस्थितियो में भी सकारात्मक दृष्टिकोण रखने में मदद करता है। 

जब हम किसी दुख या दर्द में रहते हैं तो हंसने से हमें राहत का अहसास होता है। हंसी हमें आशा के नए स्रोतो को खोजने में हमारी हिम्मत और ताकत बनती है। जब हम किसी बात से परेशान होकर कोई समाधान या विकल्प चुनते हैं या किसी प्रकार का कदम उठाते हैं तो वह गलत होने की संभावना रहती है। लेकिन अगर हम कठिन परिस्थितियो में भी हंसते हैं तो हमें अच्छे विकल्प चुनने का और अच्छे फैसले लेने का भाव पैदा हो जाता है जिसे हम एक अच्छी सोच के साथ ही कर सकते हैं। इसीलिए हम आपसे यही कहेंगे कि रोजाना हंसने को अपने व्यायाम में जरूर शामिल करें और मानसिक, शारीरिक दोनो ही रूप से स्वस्थ रहें।

Jhuma Ray
Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।
RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: