Homeहिन्दीजानकारी1 मई "Maharashtra Diwas" जानिए क्या है यह दिन कब, क्यों और...

1 मई “Maharashtra Diwas” जानिए क्या है यह दिन कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है महाराष्ट्र स्थापना दिवस।

हर साल 1 मई के दिन महाराष्ट्र दिवस होता है। साल 1960 में 1 मई के दिन मुंबई प्रदेश को 2 राज्यो में विभाजित किया गया था और वही दो राज्यो में एक महाराष्ट्र और एक गुजरात राज्य का गठन हुआ। मुंबई यानि बॉम्बे को भाषा के आधार पर महाराष्ट्र का राजधानी घोषित किया गया और तभी से हर साल 1 मई के दिन को महाराष्ट्र के स्थापना दिवस के तौर पर मनाया जाता है। दरअसल भारत में लगभग हर एक राज्य हर साल अपने राज्य का स्थापना दिवस मनाता है। इस तरह महाराष्ट्र में भी हर साल मई महीने के प्रथम दिन यानी 1 मई के दिन महाराष्ट्र का स्थापना दिवस मनाया जाता है।

कैसे मनाया जाता है महाराष्ट्र स्थापना दिवस

इस दिन सभी प्रकार के सरकारी और गैर सरकारी संस्थान बंद रहते हैं। इसके अलावा विभिन्न जगहो पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमो का आयोजन किया जाता है। इस साल 2021 में कोरोना महामारी को देखते हुए राज्यो में किसी भी प्रकार कार्यक्रम, उत्सव या परेड का आयोजन नहीं किया गया था। क्योंकि ऐसी भयानक स्थिति में जब हर दिन कोरोना वायरस के अलग ही रिकॉर्ड टूट रहे हैं ऐसे में राज्य और केंद्र सरकार किसी भी प्रकार उत्सव के आयोजन से पहले नियम लागू कर रही है।

महाराष्ट्र स्थापना दिवस के मौके पर राज्य के राज्यपाल, राज्य रिजर्व पुलिस फोर्स, बीएमसी फोर्स, मुंबई पुलिस, होमगार्ड और ट्रैफिक पुलिस इस परेड का हिस्सा बनते हैं। महाराष्ट्र के स्थापना दिवस के अवसर पर महाराष्ट्र की पौराणिक संस्कृति, परंपरा को दर्शाने के लिए हर जगह सांस्कृतिक कार्यक्रमो का आयोजन किया जाता है। लेकिन कोरोना महामारी के बढ़ते मामले को देखते हुए इस साल ऐसे कार्यक्रमों पर रोक लगा दी गई है। 

इस दिवस के अवसर पर शहीदो को श्रद्धांजलि दी जाती है, साथ ही देश के खिलाड़ियो, कलाकारो, पुलिस अधिकारियो और डॉक्टर को भी उनके द्वारा किए जाने वाले कामो के लिए सम्मानित किया जाता है। परंपरा के मुताबिक इस दिन मराठी संतो के द्वारा रचित कविताओ का भी पाठ किया जाता है। लोगो तक इस राज्य के इतिहास को पहुंचाने के लिए इस दिन हर जगह विभिन्न प्रकार के सेमिनार आयोजित होते हैं। 

महाराष्ट्र स्थापना दिवस का इतिहास 

जैसे कि हम सब जानते हैं कि हमारा देश भारतवर्ष विभिन्न भाषा, संस्कृति से परिपूर्ण देश है। और जब हमारा देश स्वतंत्र हुआ उस समय हमारे देश का नक्शा बिल्कुल ही अलग हुआ करता था। उस समय भारत के कई सारे राज्य एक ही साथ मिले-जुले थे। लेकिन समय के साथ इन राज्यो को भाषा और क्षेत्र के आधार पर विभिन्न भागो में बांटा गया, जिसके बाद भारत में कई राज्य बनकर तैयार हुए। इस तरह भारत के कई नए नए राज्यो का निर्माण होने के बाद हमारे देश भारत वर्ष में कुल 29 राज्य है जिनकी अलग-अलग अपनी अपनी भाषा, संस्कृति, वेशभूषा और सांस्कृतिक महत्व है।

1 मई “Maharashtra Diwas” जानिए क्या है यह दिन कब, क्यों और कैसे मनाया जाता है महाराष्ट्र स्थापना दिवस।

पहले मुंबई प्रदेश में मराठी और गुजराती भाषा बोलने वाले लोग थे। जय श्याम भक्त मुंबई में दोनो भाषाओ को लेकर एक साथ चल रहा था। वही मराठी और गुजराती भाषा बोलने वाले लोग अपने अपने लिए एक अलग अलग राज्यो की मांग कर रहे थे। अधिनियम 1956 राज्यो के पुनर्गठन के तहत कई राज्यो का गठन किया गया। उस समय ही कन्नड़ भाषा वाले लोगो को कर्नाटक राज्य बनाया गया और उसी के साथ तेलुगु भाषी लोगो के लिए आंध्रप्रदेश और मलयालम भाषा के लोगो के लिए केरल और तमिलनाडु राज्य बना। लेकिन इस समय तक मराठी और गुजराती भाषा बोलने वाले लोगो को अलग राज्य नहीं मिला था।

महाराष्ट्र स्थापना दिवस पर क्या होता है 

महाराष्ट्र के स्थापना दिवस के अवसर महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा राज्य के स्कूल, विश्वविद्यालय और सरकारी हर एक संस्थान की छुट्टी रहती है। हर साल इस दिवस के अवसर पर शिवाजी पार्क में परेड का आयोजन होता है। साथ ही इस दिन शिवाजी पार्क में महाराष्ट्र राज्य के राज्यपाल द्वारा हर साल भाषण भी दिए जाते हैं।

जिन लोगो ने महाराष्ट्र राज्य की अलग स्थापना के लिए अपना योगदान दिया है उन्हे श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री हुतात्मा चौक में जाते हैं। यह चौक उन लोगो की याद में बनाया गया है, जो महाराष्ट्र राज्य के निर्माण आंदोलन के समय शहीद हो गए थे। साथ ही इस दिन इस राज्य में शराब बेचने पर भी रोक लगाया जाता है। साल 2021 में महाराष्ट्र राज्य के स्थापना होनेके 51 वर्ष पुरे हो चुके हैं।

महाराष्ट्र राज्य की खुबिया

मुंबई पुनर्गठन के दौरान अधिनियम साल 1960 महाराष्ट्र और गुजरात राज्य को 2 राज्यो में विभाजित किया गया। इन दोनो राज्यो में मुंबई को लेकर कई विवाद भी हुए थे। जिसके बाद मुंबई राज्य को महाराष्ट्र की राजधानी घोषित किया गया। महाराष्ट्र भारत में बसा वह राज्य है, जो भारत के दक्षिण मध्य में स्थित है। भारत के सबसे धनी और सबसे समृद्ध राज्यो में महाराष्ट्र की ही गिनती होती है।

महाराष्ट्र शब्द को संस्कृत से लिया गया है, जो 2 शब्दो के द्वारा मिलकर बना है – महा और राष्ट्र जीसका मतलब होता है एक महान देश। यह नाम वहां के संतो की देन है महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई है जो भारत का सबसे बड़ा शहर है। मुंबई देश की आर्थिक राजधानी के रूप में भी जानी जाती है और यहां के पुणे शहर भारत के बड़े महानगरो में से एक है। भारत के सबसे बड़े शहरो में पुणे छठवें स्थान पर आता है और विश्व में केवल 11 ऐसे देश है जिनकी जनसंख्या महाराष्ट्र से ज्यादा है।

दरअसल इस राज्य की मांग मराठी भाषी लोगो की मांग पर की गई थी। यहां मराठी भाषा सबसे ज्यादा बोली जाती है। महाराष्ट्र के अन्य शहरो में मुंबई, अहमदनगर, औरंगाबाद, उस्मानाबाद, अकोला, पुणे, कोल्हापुर, नासिक, जालना, नागपुर, सोलापुर, लातूर, ठाणे, अमरावती और नांदेड प्रमुख्य शहर है।

महाराष्ट्र राज्य की कुछ जानकारी  

महाराष्ट्र राज्य का भौगोलिक क्षेत्रफल 307713 KMकिलोमीटर तक फैला हुआ है। क्षेत्रफल के आधार पर देखा जाए तो भारत के बड़े राज्यो में महाराष्ट्र भारत के तीसरे नंबर पर है। इस राज्य से पहले स्थान पर आते हैं राजस्थान और मध्यप्रदेश राज्य जो क्षेत्रफल के आधार पर भारत के सबसे बड़े राज्य है।

महाराष्ट्र राज्य का दक्षिण दिशा कर्नाटक से लगता है तो वही दक्षिण पूर्व दिशा आंध्र प्रदेश और गोवा की सीमाओ को छूता है। इसके अलावा महाराष्ट्र राज्य की उत्तरी भाग की सीमा मध्यप्रदेश राज्य से जुड़ी हुई है और इस राज्य के पश्चिम दिशा में अरब सागर है स्थित है। राजनीतिक क्षेत्र में भी महाराष्ट्र राज्य की एक अलग और अहम भूमिका है। महाराष्ट्र में कुल 228 विधानसभा की सीटें, लोकसभा की 543 सीटें हैं। जिनमें से 48 सीटे इसी राज्य की है और राज्यसभा में इस राज्य की 19 सीटें हैं।

Jhuma Ray
नमस्कार! मेरा नाम Jhuma Ray है। Writting मेरी Hobby या शौक नही, बल्कि मेरा जुनून है । नए नए विषयों पर Research करना और बेहतर से बेहतर जानकारियां निकालकर, उन्हों शब्दों से सजाना मुझे पसंद है। कृपया, आप लोग मेरे Articles को पढ़े और कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निसंकोच मुझसे संपर्क करें। मैं अपने Readers के साथ एक खास रिश्ता बनाना चाहती हूँ। आशा है, आप लोग इसमें मेरा पूरा साथ देंगे।

Leave a Reply Cancel reply

error: Content is protected !!