10 मार्च CISF Raising Day पर PM मोदी ने शुभकामनाए आइए जानते हैं CISF के बारे में।

2
10 मार्च CISF Raising Day पर PM मोदी ने शुभकामनाए आइए जानते हैं CISF के बारे में।
10 मार्च CISF Raising Day पर PM मोदी ने शुभकामनाए आइए जानते हैं CISF के बारे में।

हर साल 10 मार्च के दिन केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(CISF) के स्थापना दिवस के तौर पर मनाया जाता है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(CISF) गृह मंत्रालय के तहत काम करता है। इस साल 2021 में CISF अपना 52 वां स्थापना दिवस मनाएगा। भारत के लिए अर्धसैनिक बलों में CISF एक अनोखा संगठन है, जो भारत में सीवेज, वायुमार्ग और कुछ प्रमुख प्रतिष्ठानों के लिए काम करता है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के स्थापना दिवस के अवसर पर इस बल की सराहना करते हुए कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा और प्रगति में उनकी अहम भूमिका है।


PM मोदी ने साल 2019 में CISF के स्थापना दिवस पर दिए अपने भाषण को साझा करते हुए ट्वीट करके कहा “CISF के स्थापना दिवस पर उनके साहसी कर्मियों और उनके परिवार का अभिनंदन करता हूं। राष्ट्रीय सुरक्षा और प्रगति में उनकी भूमिका बड़ी अहमियत रखती है। साल 2019 में, मैंने CISF के स्थापना दिवस कार्यक्रम में शिरकत की थी और तब मैंने यह कहा था।

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(Central Industrial Security Force) 


केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force) एक अर्धसैनिक बल हैं, जिसका कार्य होता है सरकारी कारखानो और अन्य सरकारी उपक्रमों को सुरक्षा प्रदान करना। यह देश के विभिन्न महत्वपूर्ण संस्थानों की भी सुरक्षा प्रदान करता है। इस बल(CISF) का गठन 10 मार्च साल 1969 में हुआ था। इस बल(CISF) की संख्या लगभग 1.50 लाख है। सरकारी उपक्रमों की सुरक्षा के आलावा यह देश के आंतरिक सुरक्षा, विशिष्ट लोगो की सुरक्षा, मेट्रो, परमाणु संस्थान, ऐतिहासिक धरोहर इत्यादि की भी सुरक्षा करता है।देश में शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए हर साल यह दिवस मनाया जाता है। ताकि देश का हर एक नागरिक सीआईएसएफ(CISF) के साथ सहयोग करके चल सके। साथ  ही देश के हर एक लोगो में जागरूकता पैदा किया जा सके इसीलिए यह दिवस मनाया जाता है। CISF स्थापना दिवस के अवसर पर CISF के अधिकारी इस दिवस को परेड के साथ मनाते हैं। इस दिन मेधावी अधिकारियो को कई सेवा पदक वितरित किए जाते हैं, साथ ही सीआईएसएफ(CISF) स्थापना दिवस पर CISF अधिकारियों के साथ सहयोग करने के लिए नागरिको में जागरूकता पैदा की जाती है।

10 मार्च CISF Raising Day पर PM मोदी ने शुभकामनाए आइए जानते हैं CISF के बारे में।

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force) की स्थापना आज से 50 साल पहले हुई थी। यह भारत का ही एक सुरक्षा बल है, जिसे  पैरामिलिट्री फोर्स के नाम से भी जाना जाता है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है इसकी स्थापना 10 मार्च साल 1969 में की गई थी। CISF की स्थापना के समय इसमें कुल 2800 कर्मचारी काम करते थे, लेकिन आज इस सुरक्षा बल में करीब 165000 कर्मचारी मौजूद हैं। 

CISF के कर्तव्य


CISF अपना उद्देश्य को पूरा करने के अलावा कई और कार्य भी करता है। जैसे कि – सरकारी और गैर सरकारी गोपनीय कार्यों को संरक्षित कखना, बंदरगाहो और हवाई अड्डो को सुरक्षा प्रदान करना, आपदा प्रबंध करना और आग प्रबंध जैसे कार्यों को पूरा करना, परमाणु संस्थापनाओं को सुरक्षा प्रदान करना आदि है। CISF के अधिकारी पूरे देश में औद्योगिक इकाइयों और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की रक्षा करते हैं। यह परमाणु ऊर्जा संयंत्रों, प्रमुख बंदरगाहों, खानों, रिफाइनरियों, तेल क्षेत्रों, हवाई अड्डों और पनबिजली और ताप विद्युत संयंत्रों को सुरक्षा प्रदान करता है। उद्योगों में दुर्घटनाओं के दौरान मदद के लिए सीआईएसएफ की एक समर्पित फायर विंग है। वे पूरी दुनिया में निजी फर्मों और अन्य संगठनों को परामर्श सेवाएं भी प्रदान करते हैं। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल का मुख्य कार्य सरकारी कारखानों और अन्य सरकारी उपक्रमों को सुरक्षा प्रदान करना है। इसका काम केंद्र सरकार के औद्योगिक परिसरों की निगरानी करना भी है। साथ ही यह बल देश के विभिन्न महत्वपूर्ण संस्थानों की भी सुरक्षा के लिए काम करता है ।

CISF के पद

1 असिस्टेंट कमांडेंट

2 सब- इंस्पेक्टर

3 असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर

4 हेड कांस्टेबल

5 ड्राइवर

6 कांस्टेबल

देश के ऐसे कई नौजवान लड़के और लड़कियां हैं जो CISF में अपना करियर बनाना चाहते हैं और इसकी तैयारी करते हैं। तो आइए जानते हैं कि सीआईएसएफ(CISF) में नौकरी पाने के लिए आप लोगों के पास क्या-क्या होना चाहिए और कैसे आप यह नौकरी पा सकते हैं।

  • जो बच्चे सीआईएसफ में नौकरी करना चाहते हैं उन्हें भारत का नागरिक होना पड़ेगा। उन्हें शारीरिक और मानसिक दोनों ही क्षेत्रों में पूर्ण रूप से फिट होना पड़ेगा।
  • शैक्षनिक योग्यता की बात करें तो जो उम्मीदवार CISF में नौकरी करना चाहते हैं, उन्हें कम से कम 10 वीं कक्षा पास होना पड़ेगा। 
  • पुरुष उम्मीदवारों के लिए सीना फुलाकर 80 सेंटीमीटर और बिना फुलाए 85 सेंटीमीटर मांगा जाता है। यह विभिन्न पदों के लिए अलग-अलग मांगी जाती है।
  • उम्मीदवार की आंखों की दृष्टि लगभग 6/6 6/9 मांगी जाती है।
  • CISF में आवेदन करने वाले महिला उम्मीदवारों की ऊंचाई 157 सेंटीमीटर मांगी जाती है और पुरुषों की ऊंचाई 170 सेंटीमीटर रखी जाती है और विभिन्न पदों के लिए अलग-अलग ऊंचाई मांगी जाती है। इसके अलावा आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारो को विशेष छूट मिलती है। 
  • सीआईएसएफ में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष है यानी कि आप 18 वर्ष से कम उम्र में इसके लिए आवेदन नहीं कर सकते तथा अधिकतम आयु 23 वर्ष होनी अनिवार्य है। अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति  वर्ग (For SC/ST Candidates) के उम्मीदवारों को 5 वर्ष की छूट निर्धारित की जाती है। इसके अलावा ओबीसी OBC वर्ग के छात्रों को 3 वर्ष की छूट दी जाती है। 


आगर आप CISF में आवेदन करते हैं तो आपको तीन चरणों में परीक्षा देनी होती है। एक होती है लिखित परीक्षा(Writen) जिसमें आपको सफल होना होता है और इसके बाद आपके शरीर की जांच की जाती है। जिसमें आपके दौड़ और विभिन्न प्रकार के शारीरिक योग्यता देखी जाती है और फिर आखिरी में शरीर की जांच की जाती है। और फिर आख़िरी में मेडिकल किया जाता है, जिसमें आपको फिट होना पड़ता है। अगर आप किसी एक विषय में भी अस्वस्थ पाए जाते हैं तो आपको असफल घोषित कर दिया जाता है। इसीलिए आपको किसी भी सैनिक बल जैसे सीआरपीएफ (CRPF), बीएसएफ (BSF), आईटीबीपी (ITBP) सीआईएसएफ (CISF), और एसएसबी (SSB) में जाने से पहले ही पूर्ण रूप से स्वस्थ रहना अनिवार्य है।


पुरुष उम्मीदवारों के लिए (For Male Candidates) –  

1. दौड़ (Race) – 16 सेकंड में 100 मीटर्स (100 mtrs)

2. लंबी कूद (Long jump) – 3 चांस में 12 फ़ीट

3. उच्ची कूद (High Jump) – 3 चांस में 9 फ़ीट


महिला उम्मीदवारों के लिए (For Female Candidates) –

1. दौड़ (Race) – 18 सेकंड में 100 मीटर्स (100 mtrs)

2. लंबी कूद (Long jump) – 3 चांस में 9 फ़ीट

3. उच्ची कूद (High Jump) – 3 चांस में 3 फ़ीट 

कुछ उम्मीदवार ऐसे होते हैं जो हर क्षेत्र में परीक्षा देते हैं, और इसी में वह डिफेंस जॉब का भी एग्जाम दे देते हैं, और सोचते हैं कि ऐसे ही उन्हें जॉब मिल जाएगा लेकिन ऐसा नहीं कड़ना चाहिए। अगर आप डिफेंस जॉब की तैयारी करना चाह रहे हैं तो ही आप इस जॉब को पास कर सकते हैं। क्योंकि इसमें केवल आपके दिमाग की ही परीक्षा नहीं होती, बल्कि इसमें शारीरिक रूप से तंदुरुस्त उम्मीदवार का ही चयन किया जाता है। ऐसे में आपको शारीरिक रूप से भी तैयार होकर रहना चाहिए और एक लक्ष्य रखके इस नौकरी के लिए जरूरत पड़ने वाले हर एक क्षेत्र में ध्यान देना चाहिए। 

Leave a Reply